सरिता विशेष

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की अनुभवी तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी ने टी-20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा कर दी है. वह नवंबर में वेस्ट इंडीज में होने वाले आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप में भी नहीं खेलेंगी. 35 साल की झूलन ने 68 टी20 इंटरनैशनल मैच खेले हैं जिनमें उन्होंने कुल 56 विकेट अपने नाम किए हैं. 35 वर्षीय महिला पेसर अब केवल वनडे क्रिकेट ही खेलेंगी.

पश्चिम बंगाल की झूलन गोस्वामी के नाम 169 वनडे में 200 विकेट दर्ज हैं और वह दुनिया की सबसे ज्यादा वनडे विकेट लेने वाली महिला गेंदबाज हैं. झूलन ने इस साल जून में बांग्लादेश के खिलाफ अपना अंतिम टी20 इंटरनैशनल मैच खेला था. झूलन ने इंटरनैशनल क्रिकेट में पदार्पण इंग्लैंड के खिलाफ 2002 में चेन्नै में खेले गए वनडे मुकाबले से किया था.

एशिया कप में झूलन 4 मैचों में केवल 1 विकेट ही ले पाई थीं और उनकी गति भी खास नहीं रही थी. भारतीय महिला टीम को इस टूर्नमेंट में बांग्लादेश के खिलाफ 2 बार शिकस्त झेलनी पड़ी. झूलन गोस्वामी ने टी-20 में अपनी सफलता के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) और टीम साथियों को धन्यवाद दिया है. बीसीसीआई और पूरी महिला क्रिकेट टीम ने क्रिकेट में उनके योगदान के लिए उनका शुक्रिया अदा किया है और भविष्य के लिए उन्हें अपनी शुभकामनाएं दी है.

शुरुआत में लड़कों के साथ खेलने वालीं झूलन कोलकाता के विवेकानंद पार्क में ट्रेनिंग करती थीं. वह 16 साल के अपने क्रिकेट करियर में 10 टेस्ट मैच खेली हैं और 40 विकेट लिए हैं. वह 2007 में आईसीसी क्रिकेटर औफ द इयर भी रही थीं. 2010 में उन्हें अर्जुन पुरस्कार और 2012 में पद्मश्री से नवाजा गया.