VIDEO : नेल आर्ट का ये तरीका है जबरदस्त

ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैनल.

क्याआप ने कभी शब्दों और कल्पनाओं की दुनिया में डूब कर देखा है? पढ़ने का शौक अपना कर देखिए, किताबें आप को तनाव ओर जीवन की चिंताओं से दूर ऐसे अनूठे संसार में ले जाएंगी कि आप हैरान रह जाएंगे. कुछ देर ही कुछ भी मनपसंद पढ़ने के बाद आप का मन इतना हलका हो जाएगा कि आप स्वयं में उत्साह, ऊर्जा का अनुभव करेंगे. बारिश का मौसम हो, एक कप चाय और हाथ में अपनी मनपसंद किताब, एक बार इस अनुभव का आनंद अवश्य ले कर देखें. सारी बोरियत, अकेलापन, तनाव

चुटकियों में दूर हो जाएंगे. पढ़ने के शौक के फायदे क्या हैं, आइए, जानें :

  • पढ़ने की आदत हमें कई बार किसी और ही दुनिया में ले जाती है. पढ़ने के बाद आप की फिर यही इच्छा होती है कि अब दूसरी पुस्तक का आनंद लिया जाए. किताबों की दुनिया सब से आकर्षक दुनिया है. इस दुनिया का हिस्सा बनने पर आप को कोई नुकसान नहीं होगा. आप का व्यक्तित्व निखरता ही है.
  • मीनल वर्मा कहती हैं, ‘‘जितनी पुस्तकें आप पढ़ते हैं, उतना ही आप को एडवैंचर अच्छे लगते हैं. आप कई नायकों और खलनायकों का जीवन जी लेते हैं. आप सिर्फ वह पात्र जीते ही नहीं, उस पात्र का मस्तिष्क और उस की स्थिति भी समझने लगते हैं.’’
  • पढ़ते रहने से आप अकसर उन व्यक्तियों की बातों और विषयों के बारे में भी सोचने लगते हैं जिन पर आप कभी ध्यान न देते, यदि पढ़ा न होता. आप कई पात्रों के बारे में पढ़ कर जीवन को बेहतर समझ पाते हैं.
  • मनोवैज्ञानिक सीमा जैन कहती हैं, ‘‘यह अकसर कहा जाता है कि जिन्हें पढ़ने का शौक होता है वे दुनिया को बेहतर ढंग से समझ पाते हैं बजाय उन के, जिन्हें पढ़ने की आदत नहीं होती. जब आप विभिन्न पात्रों के बारे में पढ़ते हैं, आप उन पात्रों को अकसर जी भी लेते हैं, उन का दुख और दर्द महसूस कर पाते हैं और दुनिया को कई तरह के दृष्टिकोण से समझ पाते हैं.’’
  • घूमनेफिरने की शौकीन और उत्सुक पुस्तकप्रेमी प्रिया जोशी को लगता है कि यदि घर पर बात करने के लिए कोई भी नहीं है या कभी अकेले समय बिताने का मन हो तो किताबें आप की सब से अच्छी साथी हैं. सफर की भी अच्छी साथी हैं किताबें. आप इन के साथ कभी बोर नहीं होंगे.

डब्लू सोमरसेट मौघेम ने भी यही कहा है, ‘‘पढ़ने की आदत आप को जीवन की परेशानियों से दूर ले जाती है.’’

सो, हर समय व्हाट्सऐप पर गुडमौर्निंग, गुडनाइट के मैसेज फौरवर्ड करने या फेसबुक पर ‘इस फोटो को लाइक करो तो बिगड़े काम पूरे होंगे’ जैसी पोस्ट पर अपना समय बरबाद न कर पढ़ने का शौक अपनाएं. कुछ भी पढ़ कर आप बहुतकुछ सीखते हैं, समझ जाते हैं. पढ़ने से अकेलापन या तनाव कुछ भी नहीं रहेगा.

Tags: