सरिता विशेष

दोपहर के समय फ्लैट की घंटी बजी, तो उस समय रश्मि घर में बिलकुल अकेली थीं. उन के पति औफिस और बेटा स्कूल गया हुआ था. वे दरवाजे पर पहुंचीं, तो सामने एक युवती हाथ में बैग लिए खड़ी थी. लड़की थी, लिहाजा बिना ज्यादा सोचेसमझे रश्मि ने दरवाजा खोल दिया.

उन के दरवाजा खोलते ही युवती बोली, ‘‘हैलो मैम, मैं कौस्मैटिक प्रोडक्ट बेचने वाली कंपनी से हूं. हमारे प्रोडक्ट बहुत अच्छे हैं. एकदम डिफरैंट.’’

‘‘सौरी मुझे नहीं चाहिए,’’ रश्मि ने रूखे अंदाज से जवाब दे कर उसे टालना चाहा.

मगर युवती उत्साह में थी. बोली, ‘‘मेरी बात तो सुनिए मैम. हमारी कंपनी का औफर ऐसा है कि आप खुश हुए बिना नहीं रह सकेंगी. मैं अपने प्रोडक्ट से आप की मुफ्त में मसाज और मेकअप करूंगी और यदि आप प्रोडक्ट लेंगी तो एक के साथ एक मुफ्त मिलेगा.’’

युवती कुछ पल रुक कर फिर बोली, ‘‘इतना ही नहीं मैम, आप हमारी कस्टमर बनेंगी, तो हम साल में 12 फेशियल का मुफ्त औफर भी देंगे और वह भी घर आ कर.’’

युवती का प्रस्ताव अच्छा लगा तो उन्होंने युवती को फ्लैट में आने दिया. युवती ने बैग से मेकअप के कई प्रोडक्ट्स निकाल कर उन्हें दिखाए तो वे खुशीखुशी उसे अपने बैडरूम में ले गईं. युवती ने उन्हें ड्रैसिंगटेबल के सामने बैठाया. उस ने पहले क्रीम से उन के चेहरे की मसाज की और फिर चेहरे पर निखार लाने की बात कहते हुए एक लेप लगा दिया.

रश्मि इस बात से बहुत खुश थीं कि सब कुछ मुफ्त में हो रहा है. युवती ने उन्हें आंखें बंद कर के उसी अवस्था में कुरसी पर बैठे रहने को कहा. रश्मि नहीं जानती थीं कि उन के साथ क्या होने वाला है. इस बीच युवती ने अपने मोबाइल से किसी का नंबर डायल किया और कुछ मिनट बाद ही चुपके से बाहर का दरवाजा खोल दिया. एक युवक घर के अंदर आ गया. लेप की गंध से रश्मि बेहोश हो गई थीं.

करीब आधे घंटे बाद रश्मि की आंखें तो खुल गईं, लेकिन बैडरूम का हाल देख कर उन के होश फाख्ता हो गए. अलमारी से नकदी व गहने गायब थे. सारा सामान इधरउधर बिखरा था. रश्मि समझ गईं कि वे लूट का शिकार हो गई हैं. उन्होंने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई. युवती के हुलिए व सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने युवकयुवती को कुछ दिनों में गिरफ्तार कर लिया.

निशाने पर अकेली महिलाएं

बड़ेछोटे शहरों में ऐसे कई गैंग सक्रिय हैं, जो बहाने से कालोनियों, सोसाइटियों के अंदर आ जाते हैं. वे उन घरों, फ्लैटों की पहचान करते हैं, जिन में महिलाएं एक खास समय पर अकेली होती हैं. बदमाशों के लिए महिलाओं को काबू में करना आसान होता है, इसलिए वे उन्हें ही अपना सौफ्ट टारगेट बनाते हैं.

नोएडा के सैक्टर 50 के पौश इलाके में रहने वाली अरुणा जैन के पति तेज बहादुर रिटायर्ड ऐग्जीक्यूटिव इंजीनियर थे. ये पतिपत्नी चूंकि अकेले रहते थे, इसलिए इन्होंने अपने घर का एक हिस्सा किराए पर देने की सोची और इस बारे में एक ब्रोकर को बता दिया. ब्रोकर के ही माध्यम से एक दिन 2 लोग घर देखने आए. उन्होंने कहा कि घर उन्हें पसंद आ गया है. जल्द ही ऐडवांस दे कर शिफ्ट हो जाएंगे.

2 दिन बाद शाम के करीब 4 बजे थे. तेज बहादुर उस समय बाहर गए हुए थे. घंटी बजी, तो अरुणा ने दरवाजे पर पहुंच कर देखा कि 3 लोग खड़े हैं. उन में से एक शख्स वह भी था जो घर देखने के लिए आ चुका था. उन्होंने सोचा कि वे ऐडवांस देने के लिए आए होंगे. अत: उन्होंने दरवाजा खोल दिया. लेकिन इस के बाद जो हुआ उस की उन्होंने कभी कल्पना भी नहीं की थी. तमंचे के बल पर डराधमका कर वे घर में रखी नकदी, आभूषण व कार लूट कर फरार हो गए. जांच में पता चला कि उन्हें घर दिखाने वाला ब्रोकर जानता तक नहीं था.

SOCIETY

कई दिनों बाद पुलिस ने लूट करने वाले उन बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया. तब उन्होंने बताया कि वे ऐसी ही अकेली महिलाओं को अपना निशाना बनाते थे.

चोरी के बाद हत्या भी

सरिता विशेष

उत्तराखंड के हरिद्वार शहर की हरिलोक कालोनी में रहने वाली प्रकाशवती अपने साथ हुई घटना को शायद ही कभी भुला पाएं. वे लूट की शिकार तो हुईं ही, साथ ही उन की जान भी जातेजाते बची. दरअसल, एक दिन दोपहर में 2 लोग चंदा मांगने के बहाने उन के घर पहुंचे. उन के दरवाजा खोलते ही दोनों लोग अंदर आ गए और हथियारों के बल पर उन्हें डराधमका कर लूटपाट करने लगे.

इसी बीच प्रकाशवती के पति केदार सिंह आ गए, तो उन के सिर पर बैट से प्रहार कर के उन्हें घायल कर दिया. प्रकाशवती के साथ भी मारपीट की गई. शोरशराबा सुन कर पड़ोस की महिला स्वाति उन के घर पहुंची, तो बदमाशों ने उसे भी अपना शिकार बना लिया. उस की भी अंगूठियां लूट लीं. घटना को अंजाम दे कर बदमाश भाग गए. गनीमत थी कि प्रकाशवती की जान बच गई.

मगर गाजियाबाद के इंदिरापुरम की एक महंगी सोसाइटी में रहने वाली मधु अग्रवाल को अपनी जान गंवानी पड़ी. दरअसल, उन के बेटे का अपना कारोबार था. वह सुबह होते ही औफिस चला जाता था. मधु घर में अकेली रह जाती थीं. एक रात जब बेटा घर लौटा, तो फ्लैट का दरवाजा खुला पाया. घर के अंदर मधु मृत पड़ी हुई थीं और घर का सारा सामान बिखरा हुआ था. घर में रखी नकदी व गहने गायब थे.

पुलिस ने मामले में जांचपड़ताल कर दीपक नामक युवक को गिरफ्तार कर लिया. दरअसल, दीपक सोसाइटी में ही रहता था और लोगों के छोटेमोटे काम करता था.

मधु को उस ने अपना आसान शिकार इसलिए बनाया, क्योंकि वे अकसर अकेली होती थीं. घटना वाले दिन वह वायरिंग चैक करने के बहाने उन के फ्लैट में आया. मधु ने उसे सोसाइटी में लोगों के यहां काम करते देखा था, इसलिए उस पर शक नहीं कर सकीं. वे अपने काम में लग गईं, तो दीपक ने अलमारी में रखे गहने चुरा लिए. मधु ने दीपक को देख कर डांटा, तो उस ने चाकू निकाल कर उन पर वार कर दिया. मधु ने बचाव के लिए बहुत संघर्ष किया, लेकिन दीपक ने उन की हत्या कर दी.

भरोसा किस पर

इस तरह की वारदातों को अंजाम देने वाले इस ताक में रहते हैं कि महिलाएं घर पर अकेली हों. उत्तर प्रदेश के बिजनौर शहर का मामला भी कुछ ऐसा ही रहा. दोपहर के समय शिरोमणि अपने घर पर अकेली थीं. उन की बहन शैलजा टीचर थी और बेटा भी नौकरी करता था. दोपहर में रोज शिरोमणि अकेली होती थीं.

एक दिन बाइक सवार 2 युवक मीटर रीडिंग चैक करने के बहाने उन के घर में आ गए और हथियारों के बल पर डराधमका कर शिरोमणि को बंधक बना लिया. बदमाश नकदी व जेवरात लूट कर फरार हो गए.

हरियाणा के करनाल शहर की एक वारदात ने तो लोगों को दहला कर रख दिया. उन्हें सोचने पर मजबूर कर दिया कि आखिर किस पर भरोसा किया जाए.

दरअसल, सैक्टर 13 ऐक्सटैंशन में एक कपड़ा कारोबारी रविंद्र की पत्नी 55 वर्षीय पूजा की बेरहमी से हत्या कर दी गई. हत्या करने वाले घर का जरूरी सामान भी लूट कर ले गए थे.

कुछ दिनों की जांच के बाद पुलिस ने जब वारदात का खुलासा किया, तो हर कोई चौंक गया, क्योंकि वारदात को उन के यहां 30 साल से नौकर रहे एक व्यक्ति के बेटे मोहित ने ही अपने दोस्तों के साथ अंजाम दिया था. मोहित को पता था कि पूजा दोपहर के समय घर में बिलकुल अकेली होती हैं.

पुलिस अधिकारी रुचिता चौधरी कहती हैं कि सावधान रह कर ही ऐसी घटनाओं से बचा जा सकता है. किसी भी अनजान के लिए घर का दरवाजा न खोलें. घर के गेट पर सीसीटीवी कैमरा भी अपराध करने वालों में डर पैदा करता है. बदलते दौर में लूट के लिए नएनए तरीकों का इस्तेमाल किया जाता है. अत: महिलाओं को सावधान रहने की जरूरत है खासकर तब जब वे घर में अकेली हों.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं