सामाजिक

कपड़ों पर कलह क्यों
By मनीषा सिंह | 29 March 2017
बोलचाल के तौरतरीकों से ले कर पहनावे तक महिलाओं के लिए इतनी सामाजिक पाबंदियां हैं कि उन के किस क्रियाकलाप से कब कौन सा सामाजिक वर्ग नाराज हो जाए यह उन्हें भी नहीं मालूम होता.