उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ का नवाबी संस्कृति के साथ बहुत पुराना रिश्ता है. यहां का हबीबुल्ला एस्टेट आज भी नवाबी संस्कृति का अदभुत उदाहरण है. हबीबुल्लाह एस्टेट की बेगम हामिदा हबीबुल्लाह के 100 साल होने पर पूरे लखनऊ ने उनको हैप्पी बर्थडे बोला. कांग्रेस नेता सोनिया गांधी और कर्ण सिंह ने बेगम को जन्मदिन पर बधाई देने के लिये खत लिखे.

बेगम हामिदा हबीबुल्लाह इस उम्र में भी पूरी तरह से सक्रिय हैं. वह शहर के तमाम बड़े आयोजनों में पूरी तरह से दिखती हैं. उनके बेटे वजाहत हबीबुल्लाह ने बताया कि बेगम साहिबा की पैदाइश भले ही बहुत रवायती घराने में हुई थी पर वह जनता के लिये हर तरह के सहुलियत वाले काम करती थीं.

जब प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी लखनऊ आती थी तो यहां रूकती थी. बेगम हामिदा हबीबुल्लाह उनके लिये व्यंजनो को तैयार कराती थीं. बेगम हामिदा हबीबुल्लाह ने लखनऊ के लिये बहुत सारे सामाजिक काम किये. यहां कई संस्थाओं का गठन किया. बेगम के 100 सालगिरह की पार्टी का आयोजन सूर्या आडिटोरियम में किया गया, जिसमें शहर की बड़ी हस्तियों ने हिस्सा लिया.

अवध गर्ल्स डिग्री कालेज ने बेगम के सम्मान में एक दिन का अवकाश घोषित किया. इस अवसर पर खुद बेगम हामिदा हबीबुल्लाह ने पूरे शहर का धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा कि मैंने जो काम किये उन सबको आगे ले जाना है. इस विरासत को संभालना ही सही मायनों में सबसे बड़ा उपहार है. इस मौके पर जार्ज बर्नाडशाह की नाटक हाउ टू लाइड टू हर हसबैंडका मंचन भी किया गया. इसके साथ ही साथ बेगम अख्तर की गजलों पर कत्थक डांस भी किया गया.