सरिता विशेष

रिकार्ड बनाने की जिद कलाकार को ऊर्जा से भर देती है.जिसके चलते उसके सामने कठिन से कठिन लक्ष्य भी सरल दिखता है. गायिका अंजू पांडेय ने लगातार 6 घंटे तक पहाड़ी गीतों को गाने का लक्ष्य सामने रखा और गाना शुरू किया. एक के बाद एक 100 गाने गाते हुये अंजू पांडेय ने अपने लक्ष्य को हासिल किया. इस लक्ष्य को सफल बनाने मे संयोगिता महाजन मेमोरियल संस्थान और पावर विंग्स ने जीएसएम स्कूल में गाने का स्टेज सजाया था. अंजू पांडेय ने केवल गाना ही नहीं गाया बीचबीच में ढोलक पर थाप देकर संगीत को भी साथ रखा. 100 गानों में अंजू पाडेय ने पहाड़ की खूबसूरती और लोककला को सामने रखा और एक से एक सुरीले गाने सुनाये.

6 घंटे का लक्ष्य पूरा होने पर मार्वलस बुक औफ रिकार्ड के उत्तर प्रदेश हेड अमित सक्सेना ने रिकार्ड बनाने का प्रमाणपत्र दिया. इस मौके पर पावर विंग्स की सुनीता पौल, सुमन रावत और संयोगिता महाजन मेमोरियल की ओर से अनुराग महाजन मौजूद थे. अंजू पांडेय ने कहा कि कभी सोचा नहीं था कि लगातार इतने समय तक गाने का मौका मिलेगा. मैं लगातार रियाज करती रहती थी जिस वजह से यह संभव हुआ. आगे प्रयास होगा कि संगीत को नई ऊचाइयों पर ले जा सके. इससे कलाकार की एक पहचान बनती है.