सवाल
मेरा चेहरा सुबह नौर्मल रहता है, लेकिन दोपहर तक लाल हो जाता है. इस का क्या कारण है?

जवाब
धूप, चिंता, चौकलेट, मसालेदार खाना खाने आदि से इस बीमारी को बढ़ावा मिलता है. इस से बचाव के लिए चेहरे को ठीक से साफ करें और खानपान का विशेष ध्यान रखें. धूप में निकलने से 15 से 20 मिनट पहले यूवीए और यूवीबी से बचाव वाली सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें. धूप में ज्यादा देर रहने पर सनस्क्रीन 2 घंटे बाद दोबारा इस्तेमाल करें. खूब पानी पीएं.

ये भी पढ़ें…

सैंसिटिव स्किन : क्या करें और क्या नहीं, हम से जानिए

हम में से कई लोगों की सैंसिटिव स्किन (अति संवेदनशील त्वचा) होती है. लेकिन हमें इस का पता ही नहीं होता. नतीजतन, ऐसी त्वचा की हम जरूरी देखभाल नहीं कर पाते हैं, जिस का बुरा असर हमारी त्वचा को झेलना पड़ता है.

सैंसिटिव स्किन की पहचान

अगर आप की त्वचा पर लाल निशान पड़ते हैं, उस में खुजली होती है, दर्द के साथ सनसनाहट होती है, त्वचा जल्दी डैमेज हो जाती है, मौसम बदलने और प्रदूषण का उस पर असर होता है तो संभल जाइए, क्योंकि आप की त्वचा काफी सैंसिटिव है. अगर उपरोक्त समस्याओं में से एक भी समस्या आप की त्वचा की है तो जान लीजिए कि उसे देखभाल की ज्यादा जरूरत है.

सैंसिटिव स्किन होना किसी तरह की बीमारी का लक्षण नहीं है, बल्कि यह तो कई बीमारियों का कारण बन सकती है. सैंसिटिव स्किन वालों को रोजेसिया, ऐग्जिमा, सोरायसिस, मुंहासे या ऐलर्जी हो सकती है. कई लोग इन लक्षणों को केवल सैंसिटिविटी मानते हैं और असल समस्या तक पहुंच नहीं पाते हैं. ऐसे किसी भी लक्षण का पता लगने पर तुरंत डर्मेटोलौजिस्ट से सलाह लें.

सैंसिटिव त्वचा वालों में अन्य लक्षण भी देखने को मिल सकते हैं जैसे किसी प्रोडक्ट के इस्तेमाल से रेशेज पड़ना, जलन होना या फिर धूप में ज्यादा देर तक रहने पर त्वचा में खिंचाव महसूस होना, झनझनाहट होना आदि. इस के अलावा कभीकभी चेहरे पर लाल निशान पड़ जाना भी धूप के कारण होता है. शेविंग के बाद भी अकसर देखा गया है कि दाने निकल आते हैं.

सैंसिटिव स्किन के कारण

सैंसिटिव स्किन होने के कई कारण हैं और हर व्यक्ति पर इस का अलगअलग असर हो सकता है. सैंसिटिव स्किन आनुवंशिक कारण से भी हो सकती है या फिर पर्यावरण में भी इस के कारण छिपे हो सकते हैं. अगर आप की त्वचा जल्दी लाल हो जाती है, उस में खुजली होती है, झांइयां आदि पड़ जाती हैं, तो यह समस्या आनुवंशिक हो सकती है. कुछ ऐलर्जिक रिएक्शन भी आप को परिवार से ही मिलते हैं.

कई बार आप जो खाना खाते हैं, वह भी आप की स्किन को सैंसिटिव बना देता है या कुछ ऐलर्जिक रिएक्शन को बढ़ावा दे सकता है. कौफी व अन्य गरम पेयपदार्थ और गरममसाले भी आप की स्किन में होने वाले रिएक्शन का कारण बनते हैं. इस के अलावा आप की स्किन कुछ खास स्किनकेयर और हैल्थ प्रोडक्ट्स को ले कर भी सैंसिटिव हो सकती है. ऐसी हालत में आप की स्किन को अतिरिक्त देखभाल की जरूरत पड़ती है.

त्वचारोग विशेषज्ञ को दिखाएं

अगर आप त्वचा की सैंसिटिविटी की परेशानी से जूझ रहे हैं, तो आप तुरंत त्वचारोग विशेषज्ञ के पास जा कर अपना चैकअप करवाएं. आप को अपनी त्वचा के बारे में पता होना चाहिए कि किन वजहों से आप की स्किन इतनी सैंसिटिव हो रही है. त्वचारोग विशेषज्ञ को दिखा लेने के बाद आप के पास इस समस्या से निबटने के बेहतर तरीके व साधन होंगे.

स्किन की नाजुकता का रखें खयाल

अगर आप की स्किन कोमल है, तो उस पर सख्त, खुरदरे प्रोडक्ट का इस्तेमाल न करें. हां, त्वचा को साफ रखें. लेकिन स्क्रबिंग व गरम पानी से बचें. क्लींजिंग के इस्तेमाल के बाद चेहरे को अच्छी तरह साफ कर लें. यह प्रोडक्ट हलका और सोप फ्री होनी चाहिए जो आप की स्किन में से ज्यादा औयल न निकाले. सैंसिटिव स्किन के लिए बने मौइश्चराइजर और सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें. चेहरे को बारबार व ज्यादा देर तक न धोएं और चेहरे को धोने के लिए कुनकुने पानी का इस्तेमाल करें. बदलते मौसम के बदलते समय में त्वचा का खास ध्यान रखें. सर्दियों में त्वचा में हो जाने वाली ड्राईनैस से खुजली होना आम बात है. ऐसे मौसम में त्वचा में पानी की कमी हो जाने पर उसे औयल बनाने में कुछ ज्यादा समय लगता है.

सैंसिटिव स्किन प्रोडक्ट्स ही चुनें

सैंसिटिव स्किन के लिए हमेशा सैंसिटिव प्रोडक्ट्स ही इस्तेमाल करें. ऐसे प्रोडक्ट्स चेहरे पर किसी भी प्रकार की जलन व खुजली पैदा नहीं करते. प्रोडक्ट्स पर दिए गए निर्देशों का जरूर पालन करें.

पावरफुल प्रोडक्ट्स से रहें दूर

सोप बेस्ड क्लींजर से दूरी बनाए रखें. अगर आप सैंसिटिव स्किन के लिए बने प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल भी नहीं करते हैं, तो ऐसे प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल से बचें, जिन में फ्रूट ऐसिड, तेज खुशबू, कलर, ऐंटीबैक्टीरियल जैसे तत्त्व मौजूद हों. डियोड्रैंट और स्क्रब वाले पदार्थों से भी बचें. किसी भी प्रोडक्ट को खरीदने से पहले उस में मौजूद तत्त्व चैक कर लें. कठोर कैमिकल वाले सोप, शैंपू, बौडी क्लींजर, क्रीम, बाथ औयल और बबल बाथ से बचें. सब से महत्त्वपूर्ण बात यह है कि चेहरे पर स्क्रब न करें. इस के लिए आप मुलायम पफ या कपड़ा चेहरे को साफ करने के लिए इस्तेमाल किया करें.

अच्छे सनप्रोटैक्शन का इस्तेमाल करें

सैंसिटिव स्किन वालों सूर्य की अल्ट्रावायलेट किरणों से बचने के लिए यह जरूरी है कि उन का मौइश्चराइजर एसपीएफ 30 वाला ही हो और वे सैंसिटिव स्किन के लिए बने सनस्क्रीन का ही इस्तेमाल करें.

खाने में रखें परहेज

कुछ खाद्यपदार्थों की वजह से भी सैंसिटिव स्किन वालों को ऐलर्जी हो सकती है, इसलिए ऐसे खाद्यपदार्थ पहचानें और उन से दूरी बनाए रखें. इस में आप डर्माटोलौजिस्ट से सलाह भी ले सकते हैं.

तनाव से बचें

तनाव से आप के नैचुरल ऐंटीऔक्सीडैंट मारे जाते हैं, जो त्वचा की बढ़ती उम्र को रोकने में मददगार होते हैं. इस के अलावा शरीर में ऐसे हारमोन भी तेजी से बढ़ने लगते हैं जो चेहरे पर दाने पैदा करते हैं. ऐसा कुछ न हो इस के लिए तनावमुक्त रहने की पूरी कोशिश करें.

पौष्टिक आहार लें

स्किन को स्वस्थ रखने के लिए हमेशा संतुलित और पौष्टिक डाइट लें. सैंसिटिव स्किन वाले ईएफए फैटी ऐसिड वाले खाद्यपदार्थ भी अपनी खुराक में शामिल करें.

नैचुरल फैब्रिक चुनें

सैंसिटिव स्किन वालों के लिए कौटन और सिल्क फैब्रिक का चुनाव करना सही रहेगा. सिंथैटिक वस्त्रों के मुकाबले ये रिएक्शन कम करते हैं. मेकअप उतारते समय भी कौटन बौल्स का इस्तेमाल करें न कि सिंथैटिक बौल्स का.

-डा. वरुण कात्याल (कंसल्टैंट डर्मैटोलौजिस्ट ऐंड कौस्मैटोलौजिस्ट)

 

COMMENT