सवाल
मेरी उम्र 25 वर्ष है. मुझे पीरियड्स में असहनीय दर्द होता है. क्या दर्दनिवारक दवा खानी चाहिए?

जवाब
दर्दनिवारक दवा सीधे किडनियों पर प्रभाव डालती है. यह लेना सही नहीं है. दरअसल, संतुलित आहार और व्यायाम की कमी के चलते शरीर में सहन करने की शक्ति नहीं रहती है, जिस से दर्द का अनुभव ज्यादा होता है. साथ ही कई बार पीरियड्स के दौरान फ्लो ठीक से नहीं हो पाता है, जिस कारण भी अधिक दर्द होता है.

कई बार हारमोन की समस्या से भी ऐसी दिक्कतें आती हैं. अगर लगातार दर्द बना रहता है तो बिना देर किए किसी स्त्रीरोग विशेषज्ञ की सलाह लें.

ये भी पढ़ें…

पीरियड्स के दर्द से ऐसे पाएं निजात

पीरियड्स की डेट आने से पहले ही हर लड़की को डर सा लगने लगता है कि अब फिर से दर्द सहना पड़ेगा. मासिक धर्म के दौरान होने वाले दर्द में लड़कियां परेशान हो जाती हैं और उन्‍हें मेडीसीन खाने के अलावा कुछ भी नहीं सूझता है.

पीरियड्स के दौरान, मांसपेशियों में संकुचन आने के कारण उनमें ऑक्‍सीजन का प्रवाह सही से न होने के कारण दर्द होने लगता है. ऐसे में दवा से इस दर्द को बंद करना सबसे आसान होता है.

पीरियड्स के दिनों में दर्द कम करने वाली घरेलू दवा.

आवश्‍यक सामग्री

1. जीरा – 2 चम्‍मच

2. शहद – 1 चम्‍मच

3. हल्‍दी – 1 चम्‍मच

तैयार करने की विधि

– एक पैन में थोड़ा पानी उबाल लें. इसमें जीरा, हल्‍दी और शहद को मिला दें. सभी को सामग्रियों को चलाते हुए उबलने दें.

– गाढ़ा हो जाने पर इसे एक कप में पलट लें. इसे पिएं. इस पेय को छाने नहीं और न ही इसे ठंडा होने फ्रिज में रखें.

– इस पेय को दिन में दो बार पीने से दर्द नहीं होता है.

आपकी जानकारी के लिए हम बताना चाहेंगे कि जीरा में ऐसे गुण होते हैं जो पेट में उठने वाली मरोड़ को शांत कर देते हैं और रक्‍त में ऑक्‍सीजन का प्रवाह अच्‍छी तरह करते हैं. वहीं, हल्‍दी और शहद में एंटी-इंफ्लामेन्‍टरी गुण होते हैं जो पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द से राहत प्रदान करते हैं. आप भी इस पेय को पीरियड्स के दौरान पी सकती हैं इसका कोई साइड इफेक्‍ट नहीं होता है, हां स्‍वाद में थोड़ा अटपटा लग सकता है.

COMMENT