सरिता विशेष

सवाल
मैं 21 वर्षीय युवक हूं. एक लड़की से बहुत प्यार करता हूं. वह भी मुझ से बेइंतहा प्रेम करती है. हम दोनों शादी करना चाहते हैं. मगर जब लड़की ने मेरे बारे में अपने घर में बात की तो उन के घर में बवाल मच गया. लड़की के घर वालों ने लड़की को मारापीटा, उस से उस का मोबाइल भी छीन लिया. इतना ही नहीं उस का घर से बाहर आनाजाना भी बंद कर दिया. लड़की को धमकाया गया कि यदि उस ने मुझ से संबंध न तोड़ा तो वे मुझे किसी झूठे केस

में फंसा कर जेल भिजवा देंगे या फिर जान से मार देंगे. लड़की इस बात से बहुत डरी हुई है. उस ने खानापीना छोड़ दिया है. हर समय रोती रहती है. वह नहीं चाहती कि उस की वजह से मुझे कोई हानि पहुंचे.

हम दोनों एकदूसरे के बिना नहीं जी सकते. हम ने लड़की के घर वालों को शादी के लिए मनाने की हर संभव कोशिश की, पर वे टस से मस नहीं हो रहे. शादी से इनकार की वजह मात्र यह है कि लड़की की दादी की जाति (गोत्र) और हमारी जाति एक है. इस वजह से रिश्ते में हम दोनों भाईबहन लगते हैं.

मेरे घर वालों का इस तर्क पर बिलकुल विश्वास नहीं है. उन की शादी के लिए पूरी सहमति है. पर लड़की वाले नहीं मान रहे. वे लड़की पर कहीं और शादी करने के लिए दबाव बना रहे हैं. मगर लड़की अड़ी हुई है कि शादी करेगी तो सिर्फ मुझ से. किसी और से शादी करने से बेहतर वह मर जाना चाहेगी. क्या करें कुछ समझ में नहीं आ रहा.

मैं ने लड़की की मां व बड़ी बहन से मिल कर बात की. उन्हें समझाने की कोशिश की कि हम दोनों एकदूसरे को ले कर बहुत गंभीर हैं. हम दोनों एकसाथ बहुत खुश रहेंगे. इसलिए वे हमारी शादी के लिए सहमति दे दें. पर उन का कहना है कि वे मजबूर हैं. समाज हमारे विवाह के लिए कभी राजी नहीं होगा और उन्हें इसी समाज में रहना है. वे अपने समाज के विरुद्ध नहीं जा सकते. बेहतर होगा कि मैं उन की लड़की का पीछा छोड़ दूं, वरना अच्छा नहीं होगा. घर वालों के विरुद्ध जा कर हम शादी नहीं करना चाहते. बताएं हम क्या करें?

जवाब
हम 21वीं सदी में जी रहे हैं. पढ़ेलिखे होने और स्वयं को प्रगतिशील मानने के बावजूद अभी भी जाति, गोत्र और जन्मकुंडलियों के फेर में पड़े हैं. जब भी अंतर्जातीय संबंध की बात आती है विवाद उठ खड़ा होता है. माना जाता है कि जन्मपत्री में यदि वर, वधू के गुण मिलें तो विवाह संबंध सफल होते हैं. हकीकत में देखा गया है कि विवाह संबंधों की सफलताअसफलता में इन बातों का कोई योगदान नहीं होता. इन दकियानूसी बातों के मोहजाल में फंसा कर पंडेपुजारी अपनी दुकानें चलाते हैं. अधिकांश लोग सचाई को जानते हैं, पर समाज के ठेकेदारों की दादागिरी के कारण विरोध करने से डरते हैं.

अभी आप सिर्फ 21 साल के हैं, इसलिए शादी के लिए इंतजार कर सकते हैं. हो सकता है आप लोगों की जिद के आगे लड़की वाले देरसवेर झुक जाएं और विवाह के लिए सहमति दे दें. यदि किसी भी सूरत में राजी नहीं होते तो आपकोर्ट मैरिज भी कर सकते हैं. एक बार शादी हो जाने के बाद घर वाले थोड़ी नाराजगी के बाद आप को अपना लेंगे.