सवाल
मैं 22 वर्षीय अविवाहित युवती हूं. 8 महीनों से एक युवक से प्यार करती हूं. वह भी मुझ से प्यार करता है. हम दोनों ने शादी करने का भी मन बना लिया था. लड़के के घरवाले इस शादी के लिए रजामंद हैं पर मेरे मम्मीपापा को यह संबंध स्वीकार नहीं है. कारण मेरे घर वाले रिश्तेदारी में शादी नहीं करना चाहते. लड़का मेरी मौसी की जेठानी का बेटा है.

कुछ दिनों से मुझे बौयफ्रैंड के स्वभाव में कुछ बदलाव सा नजर आने लगा है. लगता है कि वह अपनी पिछली गलफ्रैंड जो अब शादीशुदा है के संपर्क में है. इसीलिए वह मुझ से कटाकटा रहता है. कभीकभी उस के रवैए से लगता है कि वह मुझे छोड़ना चाहता है. इस में थोड़ी गलती मेरी भी है.

उस ने एक बार बातोंबातों में कह दिया था कि वह अपनी गर्लफ्रैंड को आज भी नहीं भूल पाया है. बस उसी दिन से मैं उस पर बेवजह शक करने लगी. वह कभी मेरा फोन देर से उठाता या मुझे मिलने किसी कारण से नहीं आ पाता तो मैं सीधासीधा कटाक्ष करने लगती कि हो न हो तुम अपनी तथाकथित प्रेमिका के पास गए होगे. लगता है मेरे तानोंउलाहनों से ही वह मुझ से कन्नी काटने लगा है. कृपया बताएं कि मुझे क्या करना चाहिए जिस से हमारा रिश्ता सुधर जाए?

जवाब
सर्वप्रथम तो आप को अपना स्वभाव बदलना होगा. आप के बौयफ्रैंड ने आप से अपनी पहली गर्लफ्रैंड की बात नहीं छिपाई. आप से जिंदगी की अभूतपूर्व सचाई बयां कर दी कि वह आज भी उसे नहीं भुला पाया है. पहले प्यार को भुलाना आसान नहीं होता पर चूंकि उस लड़की की अब शादी हो चुकी है तो उस से आप को कोई खतरा नहीं हो सकता. अत: बेवजह अपने मित्र को तानेउलाहने देना बंद करें वरना आप का यह रिश्ता ज्यादा दिन नहीं चलने वाला.

रही शादी की बात तो अभी आप दोनों की मित्रता को मात्र 8 महीने हुए हैं. इसलिए अभी कुछ वक्त और लें एकदूसरे को समझने के लिए. समय के साथ थोड़ा मैच्योर भी हो जाएंगी. रिश्तों को परखने की समझ भी आ जाएगी. तब यदि आप को लगे कि आप दोनों एकदूसरे के लिए परफैक्ट जीवनसाथी साबित हो सकते हैं तब घरवालों को शादी के लिए राजी कर सकते हैं.