जब से आमिर खान की फिल्म ‘‘दंगल’’ ने चीन में जबरदस्त सफलता बटोरी है, तब से भारतीय फिल्मकारों की निगाहें चीन पर टिक गयी हैं. ऐसे में यह सवाल उठना स्वाभाविक है कि भारत चीन युद्ध की पृष्ठभूमि पर बनी फिल्म ‘‘ट्यूबलाइट’’ चीन में प्रदर्शित होगी या नहीं? बहरहाल, सलमान खान भी चाहते हैं कि उनकी फिल्म ‘‘ट्यूबलाइट’’ चीन में प्रदर्शित हो.

जब फिल्म ‘‘ट्यूबलाइट’’ के ही संदर्भ में सलमान खान से मुलाकात हुई, तो हमने उनसे पूछा कि ‘ट्यूबलाइट’ को वह चीन में प्रदर्शित करना चाहेंगे? इस सवाल पर सलमान खान ने कहा, ‘‘जी हां! हम चाहते हैं. इसके लिए बातचीत जारी है. चीन का बाजार बड़े स्तर पर भारतीय फिल्मों के लिए खुला है. पर चीन का सिस्टम बहुत अलग है. वहां पर गैर चीनी यानी कि विदेशी फिल्में ज्यादा प्रदर्शित नहीं होती. हर वर्ष 34-35 फिल्में ही प्रदर्शित हो सकती हैं. इसी के चलते हम अपने देश में पहले फिल्म प्रदर्शित करते हैं, उसके बाद चीन में प्रदर्शित करते हैं. इसके अलावा चीन में यह सिस्टम है कि बॉक्स ऑफिस कलेक्शन का एक बड़ा हिस्सा वहां की सरकार ले जाती है, उसके बाद के हिस्से में से निर्माता और वितरक को हिस्सा मिलता है. पर वहां बाजार बड़ा है. करीबन 25 हजार सिनेमाघर हैं. ऐसे में वहां पर फिल्म का प्रदर्शित होना लाभ ही देता है.’’