शाहरुख खान और अनुष्का शर्मा, फिल्मकार इम्तियाज अली के निर्देशन में अपनी नई फिल्म ‘द रिंग’ की शूटिंग प्राग में करके खुश थे. पर अंदरूनी सूत्र बार बार इशारा करते आए हैं कि फिल्म के नाम से शाहरुख खान नाखुश हैं. शायद इसी के चलते अब फिल्म ‘द रिंग’ का नाम बदलकर ‘रहनुमा’ रख दिया गया है.

वास्तव में इम्तियाज अली को अपनी फिल्म के नाम में अंग्रेजी शब्द रखने का मोह रहा है. इसके पीछे इम्तियाज अली की अपनी सोच रही है. इम्तियाज अली अपनी हर फिल्म के नाम में अंग्रेजी शब्द रखते आए हैं, फिर चाहे वह ‘जब वी मेट’ हो या ‘लव आज कल’ हो या ‘हाईवे’ हो या ‘रॉक स्टार’ हो. इम्तियाज अली ने अपनी पिछली फिल्म का नाम ‘तमाशा’ रखा था, जिसे बॉक्स ऑफिस पर सफलता नहीं मिली थी. जबकि उनकी अंग्रेजी शब्द युक्त नाम वाली हर फिल्म सफल होती रही है. मगर इस बार शाहरुख खान के साथ साथ दूसरे लोग भी सोच रहे थे कि फिल्म के कथानक से ‘द रिंग’ नाम फिट नहीं बैठता है.

वास्तव में फिल्म की कहानी के अनुसार अनुश्का शर्मा की अंतिम सगाई की रिंग यानी कि अंगूठी खो जाती है, जिसे वह पेरिस में एक गाइड की मदद से तलाशती हैं. इस गाइड की भूमिका में शाहरुख खान है. बहरहाल, अब सूत्र दावा कर रहे हैं कि फिल्म का नाम ‘द रिंग’ से बदलकर ‘रहनुमा’ रखा गया है.‘रहनुमा’ उर्दू शब्द है, जिसका अर्थ होता है सलाहकार या गाइड या राह दिखाने वाला. यह नाम फिल्म में शाहरुख खान के किरदार के अनुसार एकदम सटीक बैठता है. इतना ही नहीं अब शाहरुख खान दावा कर सकते हैं कि उन्होंने इम्तियाज अली की फिल्म ‘रहनुमा’ में शीर्ष भूमिका निभायी है. तो अब फिल्म ‘द रिंग’ का नाम बदलने की असली वजह भी लोग समझ सकते हैं.