बहुत पुराना मुहावरा हैं, ‘इंसान दूसरों को धोखा दे सकता है. मगर अपने आपको धोखा नही दे सकता.’ जो इंसान खुद को धोखा देने का प्रयास करता है, वह सिर्फ असफलता ही दर्शाता है.’ यह मुहावरा वरुण धवन पर बहुत सटीक बैठता है.

बौलीवुड के सफलतम फिल्मकार डेविड धवन की संतान होने के नाते बिना किसी तरह के स्ट्रगल के वरूण धवन को करण जोहर ने फिल्म ‘स्टूडेंट आफ द ईअर’में अभिनय करने का मौका दिया. उसके बाद किस्मत से उन्हें लगातार सफलता मिलती गयी. पर इस सफलता ने उनका दिमाग खराब कर दिया है या उनके पास पास मौजूद उनके मैनजर व पीआरटीम ने उन्हे चने के झाड़ पर चढ़ा रखा है, यह तो वही जाने. पर वह जिस तरह की बयानबाजी कर रहे हैं, उससे तो यही लगता है कि वह खुद को धोखा दे रहे हैं.

सभी मानते हैं कि शाहरुख खान व रोहित शेट्टी की पिछली फिल्म ‘दिलवाले’ सुपर फ्लाप थी, जिसमे वरुण धवन ने भी अभिनय किया था. मगर वरुण धवन ने ‘सरिता’ पत्रिका से बात करते हुए दावा किया कि उनकी फिल्म ‘दिलवाले’ एक सफल फिल्म थी.

‘सरिता’ पत्रिका से बात करते हुए वरुण धवन ने कहा, ‘शाहरूख सर के साथ मेरे संबंध अभी भी बहुत अच्छे हैं. दिलवाले मेरे करियर की सफल फिल्म है, असफल नहीं. दिलवाले को बच्चों ने ज्यादा पसंद किया है. देखिए, कभी कभी एक ही फिल्म कुछ दर्शकों के लिए चलती है, कुछ दर्शकों के लिए नहीं चलती. मेरी राय में पैसा लगाने वाला निर्माता पैसा कमा ले, तो मैं खुश हूं. रोहित शेट्टी ने दिलवालेसे पैसा कमाया है, गंवाया नहीं है. रोहित शेट्टी के साथ काम करके मुझे बड़ा मजा आया.  का ट्रेलर आने के बाद रोहित शेट्टी ने मुझे बधाई भी दी. अब मेरी फिल्म, ‘ढिशुम’ सफलता के नए रिकार्ड बनाएगी.’

अब वरूण धवन दिलवाले की सफलता का गुणगान कर किसे धोखा दे रहे हैं?