फिल्म ‘‘उड़ता पंजाब’’ को उच्च न्यायलय से मिली जीत का जश्न तो ‘उड़ता पंजाब’ से जुड़े सभी लोग मना रहे हैं. अपनी जीत की खुशी का इजहार करने के लिए फिल्म के निर्माताओं व कलाकारों ने 14 जून की दोपहर मीडिया को एक पांच सितारा हाटल में बुलाया. इस प्रेस कांफ्रेंस में एकता कपूर, विकास बहल, अनुराग कश्यप, मधु मेनटेना, अभिषेक चौबे, आलिया भट्ट, शाहिद कपूर, दिलजीत दोसांज शामिल हुए. मगर फिल्म में डाक्टर की अहम भूमिका निभाने वाली अदाकारा करीना कपूर खान गायब रहीं. इस प्रेस काफ्रेंस में अनुराग कश्यप ने दावा किया कि उनकी फिल्म की कहानी चार किरदारों की हैं. और इन चार किरदारों को शाहिद कपूर, करीना कपूर, आलिया भट्ट और दिलजीत दोसांज ने निभाया है. पर प्रेस कांफ्रेंस में चौथा किरदार गायब रहा. जब करीना के मौजूद न रहने पर सवाल पूछा गया, तो अपनी आदत के अनुसार अनुराग कश्यप प्रेस कांफ्रेंस को खत्म कर भाग खडे़ हुए. उसके बाद किसी ने इस सवाल का जवाब देना उचित नही समझा.

पर इस प्रेस कांफ्रेंस में अनुराग कश्यप ने साफ तौर पर कहा कि, ‘‘अदालत के आदेश से उनकी जीत हुई है. पर अदालत के आदेश से यह बात स्पष्ट हो गयी है कि यहां सेंट्रल बोर्ड आफ फिल्म सर्टीफिकेशन को अपने काम को सही ढंग से करना चाहिए और इसमें बदलाव की जरूरत हैं. वही हम फिल्मकारों की जिम्मेदारी भी बढ़ गयी है. फिल्मकारों की भी जिम्मेदारी है कि वह अपने आप पर सेल्फ सेंसरशिप लागू करते हुए बेहतरीन फिल्में बनाए.’’

एक तरफ ‘‘उड़ता पंजाब’’ की टीम मुंबई अदालत के आदेश को अपनी जीत बता रही है और उनका दावा है कि उनकी यह जीत फिल्म इंडस्ट्री के सभी निर्माता व निर्देशकों के एकजुट होने की वजह से मिली है. मगर अनुराग कश्यप इस बात को नजरंदाज कर रहे हैं कि तमाम निर्माता निर्देशक उनके साथ नही हैं. फिल्म ‘‘बु्ढ्ढा इन ट्रैफिक जाम’’ तथा ‘‘जुनूनियत’’ के निर्देशक विवेक अग्निहोत्री ने साफ तौर पर कहा हैं कि यह जीत नहीं है. विवेक अग्निहोत्री कहते हैं-‘‘अनुराग कश्यप ने दावा किया था कि वह अपनी फिल्म को जिस रूप में बनाया है, उसी रूपमें रिलीज करेंगे. पर अदालत ने एक कट दिया है. एक कट का अर्थ 100 कट के बराबर है.’’

तो दूसरी तरफ तमाम फिल्मकार कह रहे हैं कि यह पहली बार होगा, जब कोई फिल्म एक ही नहीं, बल्कि तीन तीन डिस्केलमर के साथ रिलीज होगी. क्या यह जीत हैं?

बहरहाल, 14 जून की ‘उड़ता पंजाब’ की प्रेस कांफ्रेस की सबसे बड़ी खूबी यह रही कि अनुराग कश्यप बहुत संयत होकर बात कर रहे थे. जब उनसे पूछा गया कि पंजाब व हरियाणा हाई कोर्ट में उनकी फिल्म के खिलाफ याचिका दायर की गयी हैं. इसका क्या होगा? तो उन्होंने कहा -‘‘देखिए, अदालत द्वारा नियुक्त एक वकील शाम चार बजे फिल्म को देखेगा और वह अपनी रिपोर्ट अदालत को सौपेंगा. उसके बाद अदालत अपना निर्णय देगी.’’