सरिता विशेष

सबीर खान निर्देशित और टाइगर श्राफ के अभिनय से सजी फिल्म ‘‘बागी’’ भी अदालत में फंसी थी. सबीर खान पर एक विदेशी फिल्म को चुराकर ‘बागी’ बनाने का आरोप लगा था. अब एक बार फिर सबीर खान और टाइगर श्राफ विवादों में हैं. इस बार इन पर फिल्म ‘‘मुन्ना माइकल’’ को चोरी की कहानी पर बनाने का आरोप है.

जब फिल्म ‘‘मुन्ना माइकल’’ की घोषणा हुई थी, तभी लेखक व निर्देशक कृतिक कुमार पांडे ने आरोप लगाया था कि यह कहानी उनकी है, जिसे उन्होंने टाइगर श्राफ को दी थी और टाइगर श्राफ अब उनकी ही कहानी चुराकर ‘मुन्ना माइकल’ बनवा रहे हैं. मगर कृतिक के आरोपों को दरकिनार करते हुए निर्देशक सबीर खान और अभिनेता टाइगर श्राफ ने फिल्म ‘‘मुन्ना माइकल’’ की शूटिंग शुरू कर दी है. फिल्म की शूटिंग लगातार जारी है.

जब कृतिक कुमार पांडे ने देखा कि उनके आरोपों पर कोई कुछ नहीं कर रहा है, तो कृतिक पांडे ने ‘मुन्ना माइकल’ के खिलाफ 13 अक्टूबर को मुंबई उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है.

कृतिक कुमार पांडे कहते हैं-‘‘यह फिल्म माइकल जैक्सन के एक प्रशंसक की जिंदगी पर आधारित है. यह कहानी मैंने टाइगर श्राफ को दिमाग में रखकर लिखी थी. हमने टाइगर श्राफ को यह कहानी सुनायी थी. उसके बाद करीबन एक साल तक टाइगर श्राफ से इस कहानी को लेकर ईमेल के जरिए भी लंबी बातचीत होती रही. टाइगर की टीम ने भी मुझसे ईमेल पर काफी जानकारी मांगी. फिर एक दिन मुझे पता एक समाचार पत्र में छपी खबर से पता चला कि मेरी कहानी पर सबीर खान फिल्म बना रहे हैं और हीरो टाइगर श्राफ हैं, तो मैने टाइगर श्राफ व उनकी टीम से संपर्क करने की कोशिश की, पर इन लोगों ने मुझसे बात करनी बंद कर दी. फिर मैंने मीडिया में इस बारे में बात की. पर कोई फायदा नहीं हुआ, तब मजबूरन अपने हक व न्याय के लिए मुझे अदालत का दरवाजा खटखटाना पड़ा है.’’

जब कृतिक पांडे ने पहली बार टाइगर श्राफ पर कहानी चोरी का आरोप लगाया था, तब टाइगर श्राफ ने खुद को पाक साफ बताते हुए कहा था-‘‘मुझे इस विवाद के बारे में कुछ पता नहीं है. मैंने कहानी नहीं चुरायी. मैं चोर नहीं हूं. मैं झूठ नहीं बोल रहा. मैं धोखेबाज नहीं.’’ पर अब मामला अदालत पहुंचा है, देखना है कि अदालत का निर्णय क्या आता है.