सरिता विशेष

सिनेमा में आए बदलाव की वजह से कई प्रतिभाशाली कलाकारों को अब काम करने के बेहतरीन अवसर मिल रहे हैं. मगर सिनेमा में आए बदलाव के साथ बॉलीवुड से कुछ ऐसी नई प्रतिभाएं जुड़ी हैं, जो  असहनशील व अति गुस्सैल हैं. इनमें धैर्य का नामोनिशान तक नजर नही आता. हमेशा बांउंसरो, अपनी पी आर टीम व मैनेजरों से घिरे रहने वाले नई पीढ़ी के यह चंद कलाकार कभी भी, किसी भी पत्रकार से भिड़ने पर आमादा रहते हैं. यह कलाकार, पत्रकार से तब तक ठीक से पेश आते हैं, जब तक सामने वाला पत्रकार उनकी हां में हां मिलाता रहे. अन्यथा इन कलाकारों के क्रोध से भगवान बचाए.

इसका नमूना सोमवार, 17 अप्रैल को मुंबई में फिल्म ‘‘राब्ता’’ के ट्रेलर लांच के अवसर पर आयोजित पत्रकार वार्ता में देखने को मिली. जहां फिल्म ‘‘राब्ता’’ के हीरो का गुस्सा उबल पड़ा था. इस अवसर पर तमाम सेटेलाइट चैनलों के कैमरामैन, हिंदी व अंग्रेजी सहित दूसरी भाषाओं के पत्रकार भी मौजूद थे.

वास्तव में फिल्म के ट्रेलर लांच के बाद पत्रकार वार्ता शुरू हुई. इस पत्रकार वार्ता में पत्रकारों के सवाल जवाब देने के लिए फिल्म के निर्माता भूषण कुमार व दिनेश वीजन, निर्देशक दिनेश वीजन, फिल्म के हीरो सुशांत सिंह व हीरोईन कृति सैनन मौजूद थे. फिल्म के ट्रेलर की प्रशंसा आदि के बाद जब पत्रकारों ने दूसरे विषयों पर सवाल पूछने शुरू किए, तो एक सेटेलाइट न्यूज चैनल के पत्रकार ने सवाल पूछा कि “पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव को फांसी देने का जो निर्णय लिया है, उस पर आप लोगों की क्या राय है.” उस पत्रकार ने कहा कि इस सवाल का जवाब ‘राब्ता’ की टीम से कोई भी दे सकता है. पत्रकार का सवाल खत्म होते ही कृति सैनन ने दिनेश वीजन के कान में कहा कि हमें इसका जवाब नहीं देना चाहिए. और पूरी टीम इस सवाल को नजरंदाज कर आगे बढ़ते हुए फिल्म उद्योग में भाई-भतीजावाद, फेअरनेस क्रीम आदि सवालों के जवाब देने लगी.

इस पर अंग्रेजी भाषा की वरिष्ठ महिला पत्रकार भारती प्रधान, जो कभी एक बहुत बड़ी अंग्रेजी की फिल्म पत्रिका की संपादक रह चुकी हैं और आज भी वह कई अंग्रेजी भाषा के अखबारों में स्वतंत्र पत्रकार के रूप कार्यरत हैं, ने खड़े होकर कहा कि कुलभूषण जाधव के सवाल को आप लोग नजरंदाज कर गए. इस पर आप लोग जवाब दे दें? तब सुशांत सिंह राजपूत ने कहा कि वह सिर्फ फिल्म ‘राब्ता’ से जुडे़ सवाल का ही जवाब देंगे. इस पर भारती प्रधान ने कहा कि आप सभी भारतीय हैं. आप अभी दूसरे सवालों का जवाब दे रहे थे, तो इस सवाल का जवाब देने में कोताही क्यों? इस पर सुशांत ने कहा कि उन्हें इस विषय के बारे में पूरी जानकारी नही है. इसलिए वह जवाब नहीं दे सकते.

तब भारती प्रधान ने सुशांत सिंह राजपूत से कहा कि आप भारतीय हैं. ऐसे में इस तरह के विषय के प्रति आपके अंदर सजगता होनी चाहिए. आपको अपना एक स्टैंड लेते हुए अपनी बात कहनी चाहिए? इतना सुनते ही सुशांत सिंह राजपूत का गुस्सा उनके सिर पर चढ़कर बोलने लगा. और बहुत गुस्से में सुशांत सिंह ने पत्रकार भारती प्रधान से कहा कि आप मेरी बात सुनिए और मेरे सवालों का जवाब दीजिए. सुशांत ने पूछा- ‘‘क्या आप हर राष्ट्रीय मुद्दे पर जानकारी रखती हैं? उसके बाद भी सुशांत सिंह कई सवाल करते रहे? सुशांत सिंह राजपूत के इस बदले रवैए को देखकर हर पत्रकार भौचक्का रह गया. पर किसी ने कुछ नहीं कहा. पत्रकार वार्ता खत्म कर दी गयी. यहां तक कि दिनेश वीजन व भूषण कुमार ने भी कुछ नहीं कहा. जबकि लोग अनुमान लगा रहे थे कि सुशांत सिंह का यह बदला हुआ व्यवहार दिनेश वीजन व भूषण कुमार को अच्छा नहीं लगा होगा. मगर अपनी फिल्म के हीरो के खिलाफ जाकर कुछ कहने की हिम्मत नहीं हुई. वैसे सोशल मीडिया पर सुशांत सिंह राजपूत की दिन भर थू-थू होती रही.

भूषण कुमार बॉलीवुड के लिए नए नहीं है. वह टीसीरीज कंपनी के मालिक है और कई फिल्में बना चुके है. वहीं दिनेश वीजन कुछ समय पहले तक अभिनेता सैफ अली खान के साथ मिलकर फिल्म प्रोडक्शन कंपनी ‘‘इलुमीनिटी” के तहत फिल्मों का निर्माण करते रहे हैं. अब दिनेश वीजन ने सैफ अली खान से अलग होकर पहली फिल्म ‘राब्ता’ का निर्माण व निर्देशन अपनी नई कंपनी ‘‘मडॉक फिल्मस” के तहत किया है.

शाम होते-होते इस मसले पर पत्रकार भारती प्रधान ने एक वेब साइट से कहा- ‘‘किसी ने भी ‘राब्ता’ की टीम के किसी भी सदस्य से निजी सवाल नहीं किया था. कुलभूषण जाधव पर किया गया सवाल निजी जिंदगी से जुड़ा सवाल नहीं था. पर सुशांत ने मेरी पूरी बात सुने बगैर पता नहीं क्या-क्या बोलता चला गया. अब तक मैं जानती थी कि सुशांत बेहतरीन कलाकार हैं, पर अब पता चला कि वह बहुत ही ‘रूड’ इंसान हैं. हम फवाद खान से उरी हमले पर सवाल कर सकते हैं. हम अमिताभ बच्चन, शत्रुघ्न सिंहा, शाहरुख खान सहित तमाम दिग्गज कलाकारों से देश से जुड़े किसी भी मुद्दे पर सवाल करते हैं और यह कलाकार बड़ी विनम्रता से जवाब देते हैं. मगर आप कृति सैनन व सुशांत सिंह राजपूत से राष्ट्र हित से जुड़ा सवाल नहीं कर सकते. पर क्यों’’

बहरहाल, यह बात साफ हो चुकी है कि आज ‘‘राब्ता’’ के ट्रेलर लांच की पत्रकार वार्ता में जो कुछ हुआ, उसके लिए सुशांत सिंह राजपूत दोषी हैं. पर साथ में कृति सैनन भी दोषी हैं, जिन्होंने दिनेश वीजन के कान में यह कहकर आग में घी डालने का काम किया कि, ‘हमें इस सवाल का जवाब नही देना चाहिए.’