अनुष्का शर्मा और प्रियंका चोपड़ा के फिल्म निर्माण में उतरने के बाद सोनाक्षी सिन्हा के फिल्म निर्माण में उतरने पर आश्चर्य व्यक्त नहीं किया जाना चाहिए. क्योंकि फिल्म निर्माण करना तो उनके खून में है.

सोनाक्षी सिन्हा के पिता व सांसद शत्रुघ्न सिन्हा भी अभिनय करते हुए ‘रामायण चित्रा’ के बैनर तले फिल्मों का निर्माण किया था. उसके बाद सोनाक्षी सिन्हा के दोनों भाई लव व कुश ने मिलकर भी अपने पिता के बैनर ‘रामायण चित्रा’ को पुनः जीवित करने का असफल प्रयास किया था.

पर इनके द्वारा निर्मित पहली फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर पानी नहीं मांगा था. ऐेसे में यदि सोनाक्षी सिन्हा भी फिल्म निर्माण के क्षेत्र में उतरते हुए अपने पिता शत्रुघ्न सिन्हा के बैनर ‘रामायण चित्रा’ को पुनः जीवित करने का प्रयास करती हैं, तो कुछ भी अजूबा नहीं है.

मगर अजूबा यह है कि सोनाक्षी सिन्हा फिल्मों में बतौर अभिनेत्री असफल होने के बाद फिल्म निर्माण करने की बात सोच रही हैं. पिछले दो वर्ष के अंतराल में ‘एक्शन जैक्शन’, ‘लिंगा’, ‘तेवर’, ‘ऑल इज वेल’, ‘अकीरा’ फिल्में बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह से असफल हो चुकी हैं.

बॉलीवुड के कुछ सूत्र दावा कर रहे हैं कि सोनाक्षी सिन्हा के गर्दिश सितारों ने सफलतम निर्देशक ए मुर्गादास को भी ‘अकीरा’ के साथ असफलता का स्वाद चखा दिया.

ऐसे में सवाल उठता है कि क्या वह एक सफल फिल्म निर्माता के रूप में उभर पाएंगी? यह अपने आपको सुर्खियों में रखने के लिए सोनाक्षी सिन्हा ने खबर उड़ायी है कि वह फिल्म निर्माता बनने जा रही है.