बौलीवुड में अरशद वारसी को छोड़कर हर शख्स खुलेआम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 500 और 1000 रूपए के नोट बंद करने का स्वागत कर रहा है. मगर ‘चेहरे पर चूना’ पोतने यानी कि हमेशा मेकअप कर काम करने वाले यह लोग इस मसले पर अपनी व्यथा कह नहीं पा रहे हैं. सूत्रों की माने तो तो सभी की दाढ़ी में तिनका अटका हुआ है. यह एक कटु सत्य है.

बौलीवुड के अंदरूनी जानकार मानते हैं कि इस निर्णय के बहुत बड़े साइड इफेक्ट्स बौलीवुड को लंबे समय तक झेलने पड़ सकते हैं. 500 और 1000 के नोट बंद होने का पहला असर हर फिल्म की बॉक्स ऑफिस की कमाई पर पड़ रहा है. इसका पहला और सबसे ज्यादा खतरनाक साइड इफेक्ट तो अजय देवगन पर पड़ा है. उनकी फिल्म ‘शिवाय’ पहले से ही बॉक्स ऑफिस पर घिसट घिसट कर आगे बढ़ रही थी, पर अब इन बड़े नोट के बंद होने से ‘शिवाय’ की कमाई पर बुरा असर पड़ा है.

पिछले बुधवार यानी कि 9 नवंबर से ‘शिवाय’ सहित अन्य सभी फिल्मों के बॉक्स ऑफिस कलेक्शन में जबरदस्त गिरावट आयी है. यूं भी बहुत बड़े बजट की फिल्म ‘शिवाय’ किसी भी सूरत में अपना घाटा पूरा नहीं करने वाली थी. इस वजह से अजय देवगन के करियर पर कई तरह के सवाल खड़े हो रहे थे. बौलीवुड में लोग मानकर चल रहे हैं कि अब दोबारा बतौर निर्देषक अजय देवगन कोई फिल्म नहीं बनाएंगे. लेकिन बडे़ नोटों के बंद होने के बाद जिस तरह से ‘शिवाय’ के बॉक्स ऑफिस कलेक्षन पर असर पड़ा है, उससे अजय देवगन को बहुत बड़ी मार पड़ने वाली है.

तो दूसरी तरफ इस सप्ताह रिलीज हुई ‘रॉक ऑन 2’, ‘इश्क जुनून’, ‘डोंगरी का राजा’ और ‘चार साहिबजादे’ फिल्मों के बॉक्स ऑफिस कलेक्शन पर तो ऐसी मार पड़ी है कि अब इस फिल्म के निर्माता सोच रहे हैं कि उन्होंने इस हफ्ते अपनी फिल्म रिलीज क्यों की? इसकी एक वजह यह है भी है यह वह फिल्में हैं, जिन्हें सामान्य स्थिति में भी बक्स ऑफिस पर अच्छे परिणाम नहीं मिलने थे.

यह तो वह साइड इफेक्ट्स हैं, जो सामने नजर आ रहे हैं और जिसका रोना सभी रो रहे हैं. मुकेश भट्ट जैसे कुछ फिल्मकारों ने उन छोटे मोटे साइड इफेक्ट्स पर आवाज उठायी है, जिनसे कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है. लेकिन बौलीवुड की कार्यशैली को अंदर से जानने वालों की माने तो बड़े नोटों के बंद होने का जो सबसे बड़ा साइड इफेक्ट् है, उस पर बौलीवुड का कोई भी फिल्मकार, कोई भी एसोसिएशन कुछ नहीं कह पा रहा है, सभी के मुंह पर ताले पड़ गए हैं.

बौलीवुड के जानकार मानते हैं कि अब अचानक कई फिल्मों की शूटिंग के बंद हो गयी है. नयी फिल्मों के शुरू होने पर सवालिया निशान लग गया है. और इस आग में घी का काम किया है फिल्म ‘बाहुबली’ के निर्माता के आफिस में पडे़ आयकर छापे ने. बौलीवुड के अंदरूनी जानकार मानते हैं कि अब बौलीवुड का हर निर्माता अपनी बड़े बजट की घोषणा करने से पहले दस बार सोचेगा. इतना ही नही बड़े बजट की फिल्मों की शूटिंग पर भी ही इसका असर पड़ा है.

अच्छा तो यह है कि पिछले कुछ वर्षों से मीडिया को इस बात की जानकारी न के बराबर ही मिलती आयी है कि किस फिल्म की शूटिंग कहां हो रही है. इसलिए अब यह बात जग जाहिर नहीं हो पाएगी कि किन किन फिल्मों की शूटिंग रोक दी गयी है. बहरहाल, हमारी नजर इस बात पर रहेगी कि बडे़ नोट के बंद होने के साइड इफेक्ट्स से बौलीवुड किस तरह उबरता है.