हालिया प्रदर्शित फिल्म ‘‘हाफ गर्ल फ्रेंड’’ में प्रेम कहानी के साथ अंग्रेजी भाषा के मुकाबले हिंदी भाषा को कमतर मानने का मुद्दा उठाया गया है. फिल्म में यह मुद्दा भले ही ठीक से न उभर पाया हो, मगर भाषा को लेकर श्रद्धा कपूर की अपनी अलग सोच है.

खुद श्रद्धा कपूर ने भाषा को लेकर हमसे बात करते हुए कहा-‘‘मेरी राय में प्यार की कोई भाषा नहीं होती है. प्यार यह नहीं देखता है कि आपको अंग्रेजी आती है या नहीं. पर जहां तक करियर का सवाल है, वहां भाषा बहुत महत्व रखती है. मैं हिंदी फिल्मों की अभिनेत्री हूं, तो मेरी हिंदी भाषा अच्छी होनी चाहिए. मुझे पता है कि मेरी हिंदी भाषा अच्छी नहीं है. पर मैं हमेशा भाषा सीखने की कोशिश करती हूं. मेरी कोशिश रहती है कि हर फिल्म के बाद मैं एक बेहतरीन अभिनेत्री बन जाउं. इसीलिए मैं ज्यादा से ज्यादा बातचीत हिंदी में करती हूं. हिंदी अखबार पढ़ती हूं, जिससे मेरी हिंदी भाषा सुधर जाए.’’