इन दिनों बौलीवुड में पारिश्रमिक राशि का मुद्दा दिन पर दिन गर्माता जा रहा है. पुरूष कलाकारों की बनिस्बत महिला कलाकारों को कम पारिश्रमिक राशि मिलती है. यह बात अब हीरोइनें बर्दाश्त नहीं कर पा रही हैं. इसी वजह से तमाम दिग्गज हीरोइनों ने खुलकर यह मांग करनी शुरू कर दी है कि कलाकारों की पारिश्रमिक राशि में अंतर नही होना चाहिए, फिर चाहे वह कलाकार पुरूष हो स्त्री. इन सभी का मानना है कि एक फिल्म के निर्माण में सभी का बराबर का योगदान होता है.

पर कई सफल फिल्मों का हिस्सा रही और इन दिनों साजिद नाडि़यादवाला निर्मित तथा शब्बीर खान निर्देशित फिल्म ‘‘बागी’’ में टाइगर श्राफ के साथ खतरनाक एक्शन दृश्यों को अंजाम देकर सुर्खियां बटोर रही अभिनेत्री श्रद्धा कपूर की अपनी थोड़ी सी अलग राय है. वह कहती हैं-‘‘जहां तक मेरा अपना सवाल है, तो मुझे यह अच्छा लगता है कि मुझे फिल्मों में काम करने का अवसर मिल रहा है. मगर फिल्मों में बदलाव आ रहा है. धीरे धीरे महिला कलाकारों को भी अच्छे पैसे मिलने लगे हैं. पर हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि सभी पहला सवाल यही करते हैं कि फिल्म का हीरो कौन है? इसी वजह से उनकी पारिश्रमिक राशि ज्यादा होती है. पर अब धीरे धीरे यह बदल रहा है. अब हीरोइनों को भी महत्व मिलने लगा है.’’