अमरीकन मॉडल और अभिनेत्री नरगिस फाखरी ने बालीवुड में फिल्म ‘‘रॉक स्टार’’ से कदम रखा था. उसके बाद से वह ‘‘मद्रास कैफे’’, ‘फटा पोस्टर निकला हीरो’, ‘मैं तेरा हीरो’ जैसी फिल्में कर चुकी हैं. सफल फिल्म ‘मैं तेरा हीरो’ के रिलीज होने के पूरे दो साल बाद वह फिल्म ‘‘अजहर’’ में नजर आयी. मगर इस फिल्म ने बाक्स आफिस पर पानी नहीं मांगा. यह एक अलग बात है कि फिल्म ‘‘अजहर’’ करते समय इसके कई दृश्यों ने उन्हे काफी प्रभावित किया था.
बहरहाल, फिल्म ‘‘अजहर’’ के रिलीज से दो दिन पहले जब नरगिस फाखरी से खास मुलाकात हुई थी, तो ‘‘सरिता’’ पत्रिका से एक्सक्लूसिव बात करते हुए नरगिस फाखरी ने इस बात का जिक्र किया था कि किस किरदार ने उनकी जिंदगी पर क्या असर डाला.

‘‘सरिता’’ पत्रिका से नरगिस फाखरी ने कहा था-‘‘फिल्म ‘रॉक स्टार’ के किरदार ने मेरी जिंदगी पर असर किया. यह एक दुःखद कहानी थी. इसके जो इमोशन थे, उनका मुझ पर प्रभाव पड़ा था. पर इसका मेरी निजी जिंदगी पर किस हद तक असर हुआ था, यह कहना मुश्किल है. इसके साथ ही फिल्म ‘मद्रास कैफे’ जैसी संजीदा व गंभीर फिल्म ने भी असर किया. फिल्म ‘अजहर’ करते समय कुछ दृश्यों ने मुझे प्रभावित किया. क्योंकि मुझे भी पता था कि यह सत्य घटनाक्रम है.’’

जब कोई किरदार आपकी निजी जिंदगी पर प्रभाव डालता है, तो उससे खुद को हटाने के लिए क्या प्रयास करती हैं? मेरे इस सवाल पर नरगिस फाखरी ने कहा था-‘‘यह बहुत कठिन होता है. ‘रॉक स्टार’ के समय मैं अपने परिवार से दूर मुंबई में थी. फिल्म में दुःखद किरदार था. तो उस समय खुद को अलग करना बहुत कठिन था क्योंकि हम ऐसी स्थिति में अपने दोस्तों से बातें करते हैं. पर उस वक्त मेरा यहां कोई दोस्त भी नहीं था. जब मैं फिल्म ‘मद्रास कैफे’ कर रही थी,त ब भी बहुत तकलीफ हुई थी. ऐसे समय हम योगा और मेडीटेशन का सहारा लेते हैं. ‘अजहर’ से ध्यान हटाना असान रहा. क्योंकि ‘अजहर’ की शूटिंग खत्म होते ही मैने कॉमेडी फिल्म ‘हाउसफुल 3’ की शूटिंग करनी शुरू कर दी थी.’’