कलकत्ता की रेडलाइट एरिया ‘‘सोनागाछी’’ का वेश्यालय पूरे विश्व में चर्चित है. इसी सोनागाछी की वेश्याओं के बच्चों पर बनी डाक्यूमेंट्री फिल्म ‘‘बार्न इंनटू ब्राथेल्स’’ को 2004 में आस्कर अवार्ड से नवाजा गया था. अब भारतीय मूल के फिल्मकार अरूप दत्ता इसी आस्कर विजेता डाक्यूमेंटरी फिल्म पर एक फीचर फिल्म का निर्माण करने जा रहे हैं. इस फिल्म में वर्तमान समय में वेश्याओं के बच्चों की जो स्थिति है, उसका चित्रण होगा. अरूप दत्ता ने इस फिल्म में एक वेश्या की बड़ी हो चुकी बेटी का किरदार निभाने के लिए सपना पब्बी को साइन किया है. सपना ने अपने अभिनय करियर की शुरूआत फिल्म ‘‘खामोशियां’’ से किया था और बहुत जल्द वह सीरियल ‘‘24’’ के दूसरे सीजन में भी नजर आने वाली है.

सूत्र बताते हैं कि सपना पब्बी सीरियल ‘‘24’’ की शूटिंग पूरी कर कलकत्ता पहुंचकर उस लड़की के साथ समय बिता रही हैं, जिसका किरदार वह फिल्म में निभाने वाली हैं. यह वही लड़की है जो कि डाक्यूमेंटरी फिल्म का हिस्सा थी और अब वह बड़ी हो चुकी है. इस डार्क फिल्म में वेश्याओं के बच्चों की जिंदगी को चित्रित करते हुए इस बात को रेखांकित किया जाएगा कि इन बच्चों को समाज और उनके अपने परिवार में से, कहीं से भी कोई सम्मान नहीं मिलता है. इस डार्क फिल्म का हिस्सा बनने का अवसर पाकर सपना काफी उत्साहित हैं.