कश्मीरी लड़कियों के रॉक बैंड ‘‘प्रगास’’ पर आधारित फिल्म में जब से फिल्म निर्देशक राजश्री ओझा ने रॉक गायिका नोमा नजीर भट्ट का किरदार निभाने के लिए सैयामी खेर को अनुबंधित किया है, तब से बौलीवुड में चर्चाओं का दौर जारी है. इन चर्चाओं की वजह यह है कि पहले इसी फिल्म  नोयामी नजीर का किरदार आलिया भट्ट निभा रही थी. बौलीवुड का एक तबका सवाल उठा रहा है कि क्या सैयामी खेर, आलिया भट्ट के जूतों पर अपना पैर जमा सकती हैं? मगर जो लोग सैयामी खेर और आलिया भट्ट दोनों को नजदीक से जानते हैं, उनकी माने तो इस किरदार के लिए आलिया भट्ट से कहीं ज्यादा उपयुक्त सैयामी खेर ही हैं.

मगर जब व्यापार की बात हो, तो सैयामी खेर के मुकाबले आलिया भट्ट ज्यादा सशक्त नजर आती हैं. क्योंकि आलिया भट्ट एक सफल अदाकारा हैं. वह कई फिल्में कर चुकी हैं. फिल्म वितरकों से लेकर आम लोगों के बीच भी उनकी अपनी एक पहचान बन चुकी है. जबकि सैयामी खेर के करियर की पहली फिल्म ‘‘मिर्जिया’’ ने बाक्स आफिस पर पानी नहीं मांगा. इतना ही नही फल्म सर्जक राजश्री ओझा के उपर भी असफल निर्देशक का तमगा लगा हुआ है. इसी के चलते बौलीवुड का एक तबका मनता है कि राजश्री ओझा को अपनी इस फिल्म के साथ सफल कलाकारों को जोड़ना चाहिए. पर राजश्री ओझा ने इस फिल्म के साथ अब राज कुमार राव और शबाना आजमी को भी जोड़ लिया है.

बौलीवुड का एक तबका फिल्म में नजीर के किरदार के लिए सैयामी खेर की वकालत करते हुए अपने तर्क दे रहा है. इनका मानना है कि इस किरदार को सैयामी खेर बेहतर ढंग से निभा सकती हैं. क्योंकि सैयामी खेर स्पोर्ट्स वूमन है. एक बेहतरीन अदाकारा भी हैं. फिल्म ‘‘मिर्जिया’’ बाक्स आफिस पर भले ही ना चली हो, मगर सभी ने सैयामी खेर के अभिनय की तारीफ की. इसके अलावा बहुत कम लेागों को पता होगा कि सैयामी खेर एक प्रशिक्षित गायिका हैं. वह बहुत अच्छा गाती हैं. फिर स्पोर्ट्स की पृष्ठभूमि के कलाकारों की खूबी होती है कि वह हार नहीं मानते, बल्कि जीत हासिल करने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा देते हैं. उनके अंदर ऐसी क्षमता होती है कि अपने आपको किसी भी किरदार के अनुसार मोड़ना आसान होता है.