बौलीवुड में अफवाहों का दौर सदैव निर्बाध गति से चलता रहता है. इन दिनों बौलीवुड में चर्चाएं गर्म हैं कि असफल फिल्म ‘ट्यूबलाइट’ के बाद फिल्मकार कबीर खान और अभिनेता सलमान खान के बीच दूरियां बढ़ गयी हैं. इसलिए अब कबीर खान ने रणवीर सिंह के संग दोस्ती बढ़ानी शुरू की है.

बौलीवुड में यह चर्चा भी गर्म है कि कबीर खान बहुत जल्द 1983 विश्व कप विजय गाथा को चित्रित करने वाली फिल्म निर्देशित करने वाले हैं, जिसमें कपिल देव का किरदार रणवीर सिंह निभाने वाले हैं. मजेदार बात यह है कि रणवीर सिंह के प्रवक्ता ने इस चर्चा पर गोलमोल जवाब दिया है. मगर सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या 1983 के विश्व कप विजय गाथा पर फिल्म वास्तव में बनेगी.

सूत्रों के अनुसार ‘‘फैंटम फिल्मस’’ से जुड़े मधु मैंटोना ने इस फिल्म का निर्माण करने की बात कही थी. उनकी इस बात पर लोगों को यकीन भी हुआ क्योंकि मशहूर क्रिकेटर विवियन रिचर्ड और अभिनेता नीना गुप्ता की बेटी मासाबा, मधु मैंटोना की पत्नी है. इसलिए मधु के सभी क्रिकेटरों से संबंध है. वह क्रिकेटरों से फिल्म बनाने के अधिकार हासिल कर सकते हैं.

मगर सबसे बड़ा सवाल यह है कि अब बदले हुए हालातों में ‘‘फैंटम फिल्मस’’ की क्या स्थिति है. सर्वविदित है कि ‘‘फैंटम’’ में मधु मैंटोना के अलावा विक्रमादित्य मोटावणे, अनुराग कश्यप और विकास बहल चार भागीदार हैं. मगर पिछले दिनों एक तूफान का ऐसा झोंका आया था, जब यह चारो अलग हुए थे. उसके बाद से ‘‘फैंटम’’ की स्थिति क्या है, यह साफ नहीं है. दूसरी बात कंपनी के चारो भागीदार अलग होने के बाद भी मधु मैंटोना इस फिल्म का निर्माण कर रहे हैं या नहीं, इस बाबत कोई साफ तस्वीर सामने नहीं आ पायी है.

तो वहीं इन दिनों रणवीर सिंह के करियर की भी स्थिति डांवाडोल ही नजर आ रही है. ‘‘बाजीराव मस्तानी’’ की सफलता के बावजूद पिछले डेढ़ वर्ष से ‘पद्मावती’ के अलावा रणवीर सिंह के पास कोई फिल्म नहीं है. कहीं क्रिकेट पर इस फिल्म की चर्चा के पीछे रणवीर सिंह और कबीर खान का खुद को सूर्खियों में बनाए रखना मात्र मकसद तो नहीं.