सरिता विशेष

सिनेमा का वैश्वीकरण हो गया है. सिनेमा में बदलाव की बातें भी की जा रही हैं. बॉलीवुड से जुड़ा हर शख्स सोशल मीडिया से जुड़ा हुआ है. हर कोई यही दावा कर रहा है कि  सोशल  मीडिया से बॉलीवुड को फायदा हो रहा है. मगर सफलतम फिल्म ‘‘हीरोपंती’’ के मुख्य विलेन का किरदार निभाकर शौहरत बटोर चुके तथा हिंदी व पंजाबी दोनों भाषाओं में बनी फिल्म ‘‘25 किले’’ के अभिनेता रांझा विक्रम सिंह की राय में  सोशल  मीडिया से सिनेमा और कलाकारों को काफी नुकसान हो रहा है.

‘‘सरिता’’ पत्रिका से बात करते हुए रांझा विक्रम सिंह ने कहा कि सच कहूं तो  सोशल  मीडिया एक मजाक बन गया है. कलाकारों का स्टारडम कम हुआ है. सोशल  मीडिया की वजह से कलाकार सोच रहा है कि उसकी इमेज चमक रही है, पर  सच यह है कि इससे उनके स्टारडम को बहुत बड़ा नुकसान हुआ है. पहले लोग आपको पसंद करते थे, आपके दर्शन पाने, आपको देखने के लिए दौड़ते थे.

लोग सोचते थे कि मुझे मुंबई शहर फलां अभिनेता को देखने के लिए जाना है. अब यह चार्म खत्म हो गया है. सोशल  मीडिया में जो लाइक्स मिल रही है, उससे कलाकार समझ रहा है कि उसका स्टारडम बढ़ रहा है,जबकि ऐसा नहीं है.अब कलाकार अपनी हर छोटी बड़ी बात  सोशल  मीडिया के द्वारा अपने प्रशंसकों तक पहुंचा रहा है, इससे धीरे धीरे प्रशंसक के मन में उनके प्रति जो आकर्षण होता था, वह कम होता जा रहा है.

अमिताभ बच्चन को महानायक कहा जाता है. पर हमें याद रखना चाहिए कि स्टार, सुपर स्टार या महानायक वह उस वक्त बने, जब  सोशल  मीडिया नहीं था. लोग सिर्फ अमिताभ बच्चन को देखने के लिए भाग कर मुंबई आया करते थे, दो तीन दिन तक उनके घर के सामने खड़ा रहा करते थे.पर जबसे वह भी  सोशल मीडिया पर सक्रिय हैं, तब से उनसे मिलने की उत्सुकता लोगों में नहीं रही.

तो जो क्रेज पहले उनको लेकर लोगों में था, वह अब नहीं रहा. मैंने देखा है कि जब फिल्म ‘‘बाहुबली’’ की शूटिंग होती थी, तब प्रभास को देखने के लिए लोग किस तरह पेड़ों पर चढ़े रहते थे. प्रभास भी  सोशल  मीडिया पर नही है.