वीएफएक्स के क्षेत्र में नाम कमाने के बाद अभिनय की तरफ मुड़े राणा डग्गूबटी अब तक दक्षिण भारतीय फिल्मों के अलावा हिंदी फिल्मों में भी अभिनय कर चुके हैं. इन दिनों वह 1971 युद्ध के समय विशाखापट्टनम के पास डूबे पाकिस्तानी जलयान ‘‘पीएनएस गाजी‘‘ की अनकही कहानी और भारतीय जल सेना यानी कि नेवी पर आधारित फिल्म ‘‘गाजी’’ में एक नेवी अफसर का किरदार निभा रहे हैं.

यह फिल्म हिंदी के अलावा तमिल व तेलगू में एक साथ बन रही है. यह भारत की पहली सब मरीन पर आधारित युद्ध फिल्म है. सूत्रों के अनुसार पिछले एक माह से इस फिल्म की शूटिंग करते हुए राणा डग्गूबटी अंडर वाटर युद्ध के दृश्यों की शूटिंग कर रहे हैं.राणा डग्गूबटी के लिए अंडर वाटर युद्ध के दृश्यों की शूटिंग करना आसान हो रहा है, क्योंकि वह प्रशिक्षित स्कूबा डायवर हैं.

इस फिल्म की चर्चा चलने पर राणा डग्गूबटी कहते हैं-‘‘इस फिल्म के लिए निर्देशक के साथ मिलकर काफी रिसर्च करने के बाद हमने तीन जनवरी 2016 से फिल्म की शूटिंग करनी शुरू की थी. हैदराबाद के विशाल स्वीमिंग पुल में हमने दो जलयान तैयार किए. मैं प्रशिक्षित स्कूबा डायवर हूं. मगर पिछले चार साल से मैने स्कूबा डायविंग नहीं की थी. मगर इस फिल्म की शूटिंग के लिए मुझे सुबह छह बजे से रात दो बजे तक पानी के नीचे ही रहना पड़ता था. यह बहुत कठिन व कष्टदायी था, मगर मैंने किरदार के साथ न्याय करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी. अब मैने 12 दिन का ब्रेक लिया है और पुनः 10 मार्च से शूटिंग शुरू करूंगा. हमें इस तरह की फिल्मों के लिए कठिन मेहनत करनी ही पड़ती है. इससे पहले मैने फिल्म ‘बाहुबली’ के लिए भी 120 दिनों तक कठिन युद्ध दृश्य फिल्माए ही थे. मैंने ‘बाहुबली’ के लिए वजन बढ़ाया था, जबकि फिल्म ‘गाजी’ के लिए मुझे अपना वजन कम करना पड़ा है. फिलहाल हम ‘गाजी’ को हिंदी और तेलगू भाषाओं में फिल्मा रहे हैं, जिसे बाद में हम तमिल भाषा में डब करेंगे. मैने रिसर्च के दौरान कुछ ऐसे नेवी अफसरों से बात की, जो कि उस वक्त आईएनएस विक्रांत पर कार्यरत थे.’’

Tags: