लगभग एक माह पहले हमने ‘‘सरिता’’ पत्रिका में यहीं पर बताया था कि किस तरह अनुराग कश्यप, मधु मेंटेना, विकास बहल और विक्रमादित्य मोटावणे की भागीदारी वाली कंपनी ‘‘फैंटम’’ में ताला लगने जा रहा है. हमने यह भी कहा था कि कि अब मधु मेंटेना अपनी अलग राह पकड़ने वाले है. बहरहाल, हमारी वह खबर पूरे एक माह बाद न सिर्फ सच साबित हुई है, बल्कि धमाकेदार बदलाव आ गया है. पहले ‘‘फैंटम’’ कंपनी पांच सौ करोड़ की लागत वाली फिल्म ‘‘रामायण’’ का तीन भाषाओं में निर्माण करने वाली थी. जबकि इस फिल्म का निर्देशन अनुराग कश्यप, विक्रमादित्य मोटावणे व विकास बहल में से कोई एक करने वाला था. मगर अब ऐसा नहीं होने वाला है.

सूत्रों के अनुसार मधु मेंटेना ने अकेले ही अपनी नई राह पकड़ते हुए फिल्म निर्माण में कूद पड़े हैं. सूत्रों के अनुसार मधु मेंटेना ने अपने काफी पुराने दोस्तों अलू अरविंद और नमित मल्होत्रा के साथ मिलकर पांच सौ करोड़ की लागत तथा तीन भाषाओं में बनने वाली फिल्म के निर्माण की घोषणा कर दी है. इससे यह बात साफ हो जाती है कि ‘‘फैंटम’’ में ताला पड़ गया. क्योंकि अलू अरविंद और नमित मल्होत्रा का ‘फैंटम’ से कभी कोई संबंध नहीं रहा. इतना ही नही मधु मेंटेना की इस फिल्म का निर्देशन फिल्म ‘नीरजा’ फेम निर्देशक राम माधवानी करेंगे.

राम माधवानी के अति नजदीकी सूत्रों पर यकीन किया जाए, तो ‘नीरजा’ के प्रदर्शन के बाद से ही राम माधवानी स्वयं रामायण पर फिल्म बनाने की योजना पर काम कर रहे थे. इसलिए ‘रामायण’ के निर्देशन की जिम्मेदारी मिलते ही उनके मन की मुराद पूरी हो गयी. उन्होंने तो अपनी तरफ से रामायण पर काफी शोधकार्य भी करके रखा हुआ है.