सरिता विशेष

बौलीवुड में भेड़चाल व कहानी की चोरी कोई नई बात नहीं है. जब से राजीव रूइया निर्देशित फिल्म ‘‘डायरेक्ट इश्क’’ का ट्रेलर आया है, तब से बालीवुड में चर्चाएं गर्म हैं कि फिल्म ‘‘डायरेक्ट इश्क’’ की कहानी हूबहू वही है, जो कि कुछ साल पहले प्रदर्शित फिल्म ‘‘रांझणा’’ की थी. ‘‘रांझणा’’ की ही तरह ‘‘डायरेक्ट इश्क’’ का कथानक भी बनारस का ही है.

आनंद एल राय निर्देशित फिल्म ‘‘रांझणा’’ में बनारस शहर में एक देसी लड़के की मुलाकात एक लड़की से होती है और वह उससे प्यार कर बैठता है, जबकि लड़की उसे अपना अच्छा दोस्त समझती है. कुछ दिन बाद दिल्ली शहर से एक आधुनिक शहरी लड़का आता है, उसे भी इस लड़की से प्यार हो जाता है. पर लड़की द्विविधा में पड़ जाती है. यह थी एक त्रिकोणीय प्रेम कहानी. लगभग यही कहानी है राजीव एस रूइया निर्देशित फिल्म ‘‘डायरेक्ट इश्क’’ की.

‘‘रांझणा’’ में धनुष, सोनम कपूर और अभय देओल थे. जबकि ‘‘डायरेक्ट इश्क’’ में रजनीश दुग्गल, निधि सुब्बैया और अर्जुन बिजलानी हैं.

कहानी या कहानी के प्लाट चोरी के मसले पर फिल्म ‘‘डायरेक्ट इश्क’’ के लेखक व निर्देशक राजीव एस रूइया ने चुप्पी साध रखी है. मगर फिल्म के अभिनेता रजनीश दुग्गल इसे सिरे से खारिज करते हुए कहते हैं-‘‘माना कि कहानी बनारस की है और तीन मुख्य पात्र हैं. महज इसी वजह से एक ही कहानी होने का आरोप लगा देना गलत है. हमारी फिल्म के तीनो पात्र बहुत अलग हैं. इस फिल्म में मेरा पात्र बात करने से पहले मारने वाला विद्यार्थी नेता है तथा लोगों की मदद करता रहता है. वह निधि के पात्र की मदद करता रहता है, जो कि बहुत बडी गायक बनना चाहती है. जबकि अर्जुन बिजलानी का पात्र ईवेंट मैनेजमेंट से जुड़ा हुआ है,वह निधि को गाने का मौका देता है. इसके बीच प्यार व रोमांस होना स्वाभाविक है. यह अलग तरह की प्रेम कहानी है.’’