सरिता विशेष

2011 में दिवाली के समय अनुभव सिन्हा निर्देशित और शाहरुख खान के अभिनय से सजी बड़े बजट की फिल्म ‘रा वन’ प्रदर्शित हुई थी. बौलीवुड में ‘रा वन’ की गिनती असफल फिल्म के रूप में होती है, पर इस तथ्य को स्वीकार करने के लिए फिल्मकार अनुभव सिन्हा तैयार नहीं है. अनुभव सिन्हा का मानना है कि फिल्म ‘रा वन’ को असफल कहना एक फैशन बन गया है.

गौरतलब है की ‘रा वन’ के बाद उन्होंने फिल्म निर्देशन से तौबा कर ली थी. अब पूरे 5 साल बाद वह अपनी पहली और स्लीपर हिट फिल्म ‘तुम बिन’ का सिक्वअल ‘तुम बिन 2’ लेकर आ रहे हैं, मगर अनुभव सिन्हा ‘तुम बिन 2’ को सिक्वअल फिल्म नहीं मानते हैं. उनका मानना है कि ‘तुम बिन 2’ की कहानी अलग है.

हाल ही में अनुभव सिन्हा से ‘सरिता पत्रिका’ की मुलाकात हुई. हमने उनसे एक सीधा सवाल किया कि 2011 में फिल्म ‘रा वन’ के एक्शन दृष्यों की चर्चा हुई थी, मगर ‘रा वन’ को बॉक्स ऑफिस पर सफलता क्यों नहीं मिली थी. इस पर ‘सरिता पत्रिका’ से अनुभव सिन्हा ने कहा, ‘ऐसा लोगों ने प्रचारित किया, पर यह हकीकत नहीं है. मैं ‘रा वन’ को बिलकुल असफल नही मानता. मुझे एक बहुत बड़ा तबका मिलता है, जिसे ‘रा वन’ बहुत पसंद है और लगभग उतना ही बड़ा तबका मिलता है, जिसे ‘रा वन’ से नफरत है. 2011 में ‘रा वन’ ने करीबन 155 करोड़ रूपए कमाए थे. पर लोगों के लिए फैशन हो गया है, यह कहना कि ‘रा वन’ असफल फिल्म थी. इसके निर्माता ने मुझे बताया कि उन्होंने इस फिल्म से पैसा कमाया है. लेकिन मैं अपने आपको बरी नहीं कर रहा हूं. मैं इस बात को मानता हूं कि मुझे ‘रा वन’ को जितनी अच्छी फिल्म बनाना चाहिए था, उतनी अच्छी फिल्म नही बना पाया था.’

जब हमने पूछा कि ‘रा वन’ में गड़बड़ी कहां हुई थी? तो अनुभव सिन्हा ने कहा, ‘फिल्म रा वन खास दर्शकों की फिल्म थी. यह फिल्म बच्चों और युवा वर्ग की थी. फिल्म वीडियो गेम को लेकर थी. पर मुझे लगा कि मैं इस फिल्म के साथ भाभीयों, मांओं व बुआओं को भी जोड़ सकता हूं. इन लोगों को जोड़ने के लिए मैंने इस फिल्म में कुछ चीजें डाल दीं. पर मैं इन लोगों को फिल्म के साथ नहीं जोड़ पाया. मेरी पहली गलती यह रही कि मैं माओं, बुआओं व भाभीयों को फिल्म के साथ जोड़ने में असफल रहा. दूसरी गलती मैंने यह की कि इन्हें जोड़ने के चक्कर में पूरी फिल्म को भ्रमित कर दिया. इसके कारण जिन्हें यह फिल्म पसंद आ सकती थी, उन्होंने भी इस फिल्म को ठुकरा दिया था.’

तो क्या निर्देशक के तौर पर फिल्म ‘रा वन’ के समय अनुभव सिन्हा अपने व्यक्तित्व से अलग हो गए थे? इस सवाल पर उन्होंने कहा, ‘नहीं! मैंने अपने दिमाग का बहुत ज्यादा उपयोग किया था. फिल्म बड़े बजट की व बडे़ स्टार के साथ थी. तो मेरे दिमाग में आया कि बडे़ दर्शक वर्ग तक इस फिल्म को पहुंचाया जाए. जबकि मेरी फिल्म की कहानी इतने बडे़ दर्शक वर्ग के लिए थी ही नहीं. यह फिल्म बच्चों और युवा वर्ग के लिए ही थी. यही गलती मुझसे हुई थी. लोगों को शिकायत यह है कि ‘रा वन’ को ढाई सौ करोड़ कमाने चाहिए थे, पर कमा नहीं पायी. खैर, चिंता ना करें. मैं इसे फिर से बनाने जा रहा हूं.’

जब हमने कहा अच्छा तो अब आप ‘रा वन’ का सिक्वअल बनाने जा रहे हैं, तो इसे लगभग स्वीकार करते हुए अनुभव सिन्हा ने कहा, ‘जी हां. ‘रा वन’ का सिक्वअल बनाने वाला हूं. इस बार हमारी यह फिल्म 500 नहीं 700 करोड़ कमाएंगी. पर मैं इसे सिक्वअल नहीं कहूंगा. क्योंकि कहानी अलग होगी. इस फिल्म में शाहरूख खान होंगे या नहीं, यह भी अभी नहीं कह सकता.’

 उन्होंने आगे कहा, ‘देखिए,2011 में मैंने जो ‘रा वन’ बनायी थी, उससे मेरे अंदर यह आत्म विश्वास पैदा हुआ कि मुझे उस जॉनर की फिल्म दुबारा बनानी चाहिए. पिछली बार मैंने जो गलतियां की थी, वह भी समझ आ रही हैं. इसलिए उससे बेहतर बनाउंगा. आप मानकर चलें कि ‘रा वन’ का जो जॉनर है, उसका भविष्य उज्ज्वल है.’