सरिता विशेष

तीन दक्षिण भारतीय फिल्मों में अभिनय करने के बाद आशुतोष गोवारीकर की पीरियड फिल्म ‘‘मोहनजो दाड़ो’’ में रोमांटिक किरदार निभा रही अभिनेत्री पूजा हेगड़े के लिए प्यार यूनिवर्सल है.

हाल ही में एक मुलाकात के दौरान जब हमने पूजा हेगड़े से पूछा कि आज का जो प्यार तथा ‘मोहनजो दाड़ो’’ के वक्त के प्यार में क्या अंतर पाया? तो पूजा हेगड़े ने कहा-‘‘मेरा मानना है कि प्यार यूनिवर्सल होता है. समय के साथ या सदियों के साथ प्यार नहीं बदलता. ‘मोहनजो दाड़ो’ के वक्त में जो प्यार था, वही प्यार आज भी है. 15 साल का लड़का हो या 60 साल का पुरूष, सभी एक ही तरह से प्यार करते हैं. पर उस जमाने में सब कुछ साधारण सा था. उस वक्त लड़की से मिलकर कहना पड़ता था कि मुझे आपसे प्यार है. अब तो लोग वाट्सएप और एसएमएस करके ही बात कर लेते हैं. अब तो फेसबुक पर ही सारी चीजें हो जाती हैं. उस वक्त तो यदि आपने किसी लड़की को देखा, तो वह कहां से आयी है, यह पता लगाना मुश्किल हो जाता था. हमारी फिल्म की प्रेम कहानी बहुत साधारण सी है. सरमन दूसरे गांव से मोहनजो दाड़ो आता हैं और उसे चानी से प्यार हो जाता है.’’