सरिता विशेष

बौलीवुड की दो बड़ी हस्तियों कंगना रानौट और रितिक रोशन के बीच गत वर्ष एक विवाद गरमाया रहा. इस विवाद ने एक दूसरे पर अति घटिया स्तर पर बयान बाजी की. फिर यह मामला पुलिस तक पहुंच गया था. आरोप था कि कंगना रानौट ने रितिक रोशन को कुछ ईमेल लिखे. जबकि कंगना का आरोप था कि रितिक रोशन ने उन्हे ईमेल लिखे. यहां तक कि रितिक रोशन ने तो इन सभी ईमेल को मुंबई के एक अंग्रेजी अखबार में छपवाकर खुद को साफ सुथरा साबित करने का प्रयास किया था. उसके बाद भी मामला शांत होने की बजाय बढ़ता ही रहा. एक दूसरे के खिलाफ बयानबाजी जारी रही. तब इस प्रकरण की जांच के लिए पुलिस में शिकायत दर्ज की गयी थी. पुलिस ने इस पूरे मामले की जांच करने के बाद इस केस में कुछ भी गलत नहीं पाया और केस को हमेशा के लिए बंद कर दिया.

मुंबई क्राइम ब्रांच के ज्वायंट कमिश्नर संजय सक्सेना ने इस संबंध में एक अंग्रेजी अखबार से कहा है-‘‘हमें ईमेल में कुछ भी नहीं मिला, क्योंकि इसका सर्वर अमेरिका में है. इसलिए यह तय करना संभव नही है कि कौन ईमेल अकाउंट का उपयोग कर रहा था. इसलिए हमें इस केस को लेकर जो सबूत मौजूद हैं, उन्ही के आधार पर बंद करना है.’’ मुंबई की फोरेंसिक लैब भी इस जांच में कुछ भी स्थापित नही कर पायी.

मुंबई पुलिस की तरफ से आए इस बयान के बाद कंगना रानौट और उनके वकील रिजवान सिद्दिकी इसे अपनी जीत बता रहे हैं. कंगना रानौट ने रितिक रोशन पर आरोप लगाया था कि रितिक रोशन और उनके बीच रिश्ते रहे हैं. उसके बाद आरोप प्रत्यारोप का सिलसिला शुरू हुआ था.