सरिता विशेष

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पत्नी जसोदाबेन के लिए आज भी रिश्ते पहली अहमियत रखते हैं. इसी के चलते जब गुजराती फिल्मों के मशहूर अभिनेता राजदीप ने अपनी पहली हिंदी फिल्म ‘‘यह कैसी है आशिकी’’ के मुंबई में आयोजित ‘प्रेस शो’ में मुख्य अतिथि के रूप में बुलाया, तो जसोदाबेन अहमदाबाद से मुंबई पहुंची. जसोदाबेन ने पत्रकारों के साथ बैठकर फिल्म देखने के बाद राजदीप को आशीर्वाद देते हुए फिल्म की सफलता की कामना की.

30 जुलाई को मुंबई में ‘‘फन रिपब्लिक’’ के प्रिव्यू थिएटर में फिल्म देखने के बाद जब हमारी जसोदाबेन से बात हुई, तो जसोदाबेन ने ‘‘सरिता’’ पत्रिका से कहा- ‘‘राजदीप मेरे भाई की तरह हैं. मैंने उनकी गुजराती भाषा की ‘देश जोयो दादा प्रदेश जोयो’, ‘उंची मोड़ी नो उंचा मोल’ सहित कई सुपरहिट फिल्में देखी हैं. वह सिनेमा के क्षेत्र में 25 वर्षों से अच्छा काम करते आ रहे हैं. मैं उनकी इस फिल्म की सफलता के लिए आशीवार्द देने आयी हूं. मैने आप लोगों के साथ फिल्म देखी. अच्छी कहानी है.’’

जी एन भाई व वंदना बी.रावल निर्मित तथा सुभाष जे शाह निर्देशित फिल्म ‘‘यह कैसी है आशिकी’’ के हीरो राजदीप ने ही इस फिल्म की कथा व पटकथा लिखी है. राजदीप का असली नाम जमीर खान है. उनका फिल्मी नाम राजदीप है. वह पिछले 25 वर्षों से बतौर हीरो गुजराती फिल्मों में सफलता के झंडे गाड़ते आ रहे हैं. ‘यह कैसी है आशिकी’ उनकी पहली हिंदी फिल्म है. जसोदा बेन के साथ अपने संबंधों की बात करते हुए राजदीप ने कहा- ‘‘जसोदा बेन को मैं वर्षों से बहन की तरह मानता आया हूं. इसीलिए आज वह मेरे करियर के नए पड़ाव पर मुझे आशीर्वाद देने आयी हैं.’’

रहस्य, रोमांच, मर्डर मिस्ट्री, हारर से भरपूर संगीतमय प्रेम कहानी वाली फिल्म ‘‘यह कैसी है आशिकी’’ की कहानी एक पचास साल से अधिक उम्र के अमीर इंसान कुमार की है, जो कि अपनी बेटी प्रिया की उम्र की ही लड़की कामिनी से दूसरा विवाह कर लेते हैं. कामिनी ने महज कुमार की दौलत देखकर विवाह किया है. वह एक नहीं दो दो युवकों के साथ रंगरेलियां मनाती रहती है. इसमें सवाल उठाया गया है कि बीस साल की उम्र की लड़कियां किसी अधेड़ उम्र के अमीर इंसान से प्यार व शादी क्यों करती हैं? ऐसी शादी होने के बाद लड़की व उस अमीर इंसान का क्या होता है? क्या यह वास्तव में प्यार है या सौदा? इस फिल्म के गीतकार अमिताभ रंजन व माहिल पधवी हैं. संवाद लंखक सुरेष जोशी तथा फिल्म को अभिनय से संवारने वाले कलाकार हैं- सुखबीर लांबा, अतुल सोनी, सिप्रा गौर, वंदना रावल, स्वाती मुखर्जी, गोकुल बारैया, राजू भरूची व अन्य.