भारत में बाक्स आफिस पर राकेश ओम प्रकाश मेहरा निर्देशित फिल्म ‘‘मिर्जिया’’ की बहुत बुरी हालत हुई है. जबकि छह अक्टूबर को लंदन इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में फिल्म ‘‘मिर्जिया’’ का वर्ल्ड प्रीमियर हुआ, जहां इसका 15 मिनट तक खड़े होकर लोगों ने तालियां बजाकर स्वागत किया. इसी फेस्टिवल में राकेश ओम प्रकाश ने अपनी ‘टायलेट’ मुहीम के लिए फिल्म ‘मिर्जिया’ के एक शो का आयोजन किया. फिल्म का शो खत्म होने पर उन्होंने दर्शकों से ‘टायलेट’ मुहीम पर बात की और उनसे अनुदान देने के लिए कहा. इस पर वहां बीस मिनट में ही एक लाख पचहत्तर हजार पौंड यानी कि करीबन डेढ़ करोड़ रूपए इकट्ठे हुए.

खुद राकेश ओम प्रकाश मेहरा ने ‘‘सरिता’’ पत्रिका को बताया-‘‘लंदन में फिल्म ‘मिर्जिया’ के खास शो के खत्म होने के बाद हमने दर्शकों को टायलेट मुहीम के बारे में बताया. फिर महज 20 मिनट में एक लाख़ पचहत्तर हजार पौंड जमा हुए. इसी के साथ हमने वहां पर ‘मिर्जिया’ दिखाकर एक नए अध्याय की शुरुआत कर दी है. सिर्फ आज के लिए नहीं हमेशा के लिए. अब हम आजीवन वहां से ‘टायलेट’ मुहीम के लिए पैसा इकट्ठा कर भारत के सरकारी स्कूलों में टायलेट का निर्माण व उनका रखरखाव करते रहेंगे. हमें  अपने एनजीओ के काम के लिए एक जरिया चाहिए था, वह मिल गया. वहां पर लोगों को हमारा काम करने का साफ सुथरा तरीका पसंद आया.

देखिए, हम यह काम ‘युवा अनस्टापल’ के साथ मिलकर कर रहे हैं. हमने ‘केपीएमजी’ को इस मुहीम का पूरा एकाउंट संभालने के लिए कहा है. आई आई एम अहमदाबाद से कहा है कि इसका जो असर है, उसे स्टडी करें. इस तरह अच्छा काम लोग कर रहे हैं. जो पैसा आ रहा है, जो खर्च हो रहा है, उसका हिसाब एक अलग स्वतंत्र संस्था रख रही है. जो टायलेट/ शौचालय बनाए जा रहे हैं, वह किस तरह का काम है, वह सब लोगों के सामने हैं, जिसे लोग कभी भी देख सकते हैं. हमारी मुहीम पूरी पारदर्शिता के साथ चल रही है. यह सारी जानकारी वेबसाइट पर हर माह डालते हैं.’’