सरिता विशेष

फिल्मकार एस एस राजामौली ‘‘महाभारत’’ से काफी प्रेरित नजर आते हैं. तभी तो वह ‘महाभारत’ पर आमिर खान के साथ मिलकर फिल्म बनाने की योजना पर भी काम कर रहे हैं. तो वहीं अब धीरे धीरे यह बात उजागर हो गयी है कि फिल्मकार एस एस राजामौली की फिल्म ‘बाहुबली’ और ‘बाहुबली 2’ के कई पात्र ‘महाभारत’ के पात्रों से प्रेरित हैं. इतना ही नहीं, धीरे धीरे फिल्म के प्रदर्षन से पहले ही लोगों को उनके इस सवाल का जवाब मिल रहा है कि कटप्पा ने बहुबली को क्यों मारा?

फिल्म ‘‘बाहुबली’’ में  सत्यराज द्वारा निभाया गया कटप्पा का पात्र ‘महाभारत’ के भीष्म पितामह से प्रेरित है. ‘महाभारत’ में भीष्म पितामह ‘हस्तिनापुर’ राजसिंहासन से बंधे होते हैं. इसी तरह फिल्म ‘बाहुबली’ में कटप्पा महिष्मति राज सिंहासन से बंधे हुए हैं. कटप्पा ने शपथ ली है कि वह आजीवन महिष्मति के सिंहासन के प्रति वफादार रहेगें. महिष्मति राज सिंहासन से बंधे होने के ही कारण कटप्पा को अपने चहेते बाहुबली की हत्या करनी पड़ती है.

‘बाहुबली’ के पहले हिस्से में हम देख चुके हैं कि महिष्मति के सिंहासन पर राजमाता शिवागामी ने अमरेंद्र बाहुबली को बैठाया था और सेना की कमान अपने बेटे भल्लाल देव को सौंपी थी. दोनो भाईयों में प्रतिद्वंदिता नजर आती है. भल्लाल के पिता बिज्जल देव चाहते हैं कि उनका बेटा राजा बने.

सूत्रों के अनुसार राजमाता ने अमरेंद्र बाहुबली को राजा बना दिया था, मगर उसे देवसेना से विवाह करने के लिए कुछ नियमों के तहत राजगद्दी छोड़नी पड़ी. तब भल्लाल देव का राज तिलक हुआ, पर भल्लाल देव और राजमाता शिवागामी के बीच अनबन बनी रहती है. इस कारण भल्लाल देव अपने पिता बिज्जल देव के संग मिलकर राजमाता शिवागामी की हत्या की योजना बनाता है. यह बात अमरेंद्र बाहुबली को पता चलती है, तो वह भल्लाल देव को मारना चाहता है, पर कटप्पा का प्रण महिष्मति के राजसिंहासन के प्रति है. इस कारण कटप्पा अपने चहेते अमरेंद्र बाहुबली से युद्ध और उसकी हत्या करने से भी पीछे नहीं हटते. यानि कि राजमाता शिवागामी को बचाने में अमरेंद्र बाहुबली के प्राण गए.

इसी घटनाक्रम के बाद शिवागामी अपने व अमरेंद्र बाहुबली के बेटे की जिंदगी बचाने के लिए भागती है. अब अमरेंद्र बाहुबली का बेटा किस तरह भल्लाल देव से बदला लेता है, यह सब ‘बाहुबली 2’ यानि कि ‘‘बाहुबली : द कलक्लूजन’’ के क्लायमेक्स में नजर आएगा.

सूत्रों की मानें तो फिल्म ‘‘बाहुबली 2’’ में अभिनेता प्रभास ने एक नहीं बल्कि तीन-तीन किरदार निभाए हैं. सूत्रों के अनुसार प्रभास ने इस फिल्म मेंव माहेंद्र बाहुबली, उसके पिता अमरेंद्र बाहुबली और दादा का भी किरदार निभाया है. फिल्मकार एस एस राजामौली इन सारी चीजों को छिपाकर रख रहे हैं. इसके पीछे उनका मकसद दर्शकों को आश्चर्य चकित करना है.