सरिता विशेष

बचपन से ही विद्रोही स्वभाव की कंगना रनौत बेलगाम बोलती हैं. वह किसी को भी बख्शती नही हैं. कुछ दिनों पहले ही हमने आपको बताया था कि ‘‘वाड़िया मूवी टोन’’ ने विशाल भारद्वाज पर अदालत में आरोप लगाया है कि विशाल भारद्वाज ने अपनी फिल्म ‘‘रंगून’’ में कंगना रनौत के किरदार जूलिया को उनकी फिल्म ‘हंटरवाली’ व हीरोईन नाडिया की नकल पर गढ़कर कॉपीराइट कानून का उल्लंघन किया है.

इस आरोप से खुद को बचाने व फिल्म को तयशुदा समय पर प्रदर्शित करने के मकसद से विशाल भारद्वाज ने सेंसर बोर्ड से फिल्म के पारित होने के बाद ‘रंगून’ से करीबन 40 मिनट के दृश्यों पर कैंची चला दी. इन दृश्यों में ज्यादातर दृश्य कंगना रनौत के किरदार जूलिया के थे. उसके बाद जब विशाल भारद्वाज ने अदालत में अपना पक्ष रखा, तो अदालत ने उन्हें दो करोड़ की बैंक गारंटी देने के बाद ही ‘रंगून’ को 24 फरवरी को प्रदर्शित करने की इजाजत दी.

मगर 24 फरवरी को फिल्म ‘‘रंगून’’ के प्रदर्शित होने पर बॉक्स ऑफिस पर यह फिल्म टें बोल गयी. ‘रंगून’ पूरे भारत में 1800 स्क्रीन्स में प्रदर्शित हुई है. इससे बौखलाकर कंगना रनौत ने अपने तीर विशाल भारद्वाज के खिलाफ छोड़ दिए.

कंगना रनौत ने विशाल भारद्वाज को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा है, ‘‘मेरी सारी आशाओं व उम्मीदों पर तुशारापात हो गया. जब मुझे निर्माता निर्देशक ने बताया कि फिल्म के कुछ दृश्य काटने पड़े हैं, तो मैंने सोचा नहीं था कि जो मेरे पसंदीदा दृश्यों व फिल्म के अंदर मेरे जूलिया के किरदार के ग्राफ को आगे बढ़ाने के लिए अति आवष्यक दृश्यों पर ही कैंची चलाई है. मैं अपने किरदार की तैयारी बहुत ही ज्यादा लीनियर तरीके से करती हूं. पर जब मैंने फिल्म देखी और विशाल सर ने समझाया कि उन्हें दृश्यों पर कैंची क्यों चलानी पड़ी, तो इस फिल्म से मेरी सारी उम्मीदें खत्म हो गयीं.’’

कंगना रनौत आगे कहती हैं कि ‘‘माना कि फिल्म में किस दृश्य को रखना है और किसे को नहीं, यह निर्माता व निर्देशक का विषेशाधिकार है. लेकिन जब मुझे पता चला कि फिल्म में मेरे जो अति उम्दा परफॉर्मेंस वाले दृश्य थे, उन्हीं पर कैंची चला दी गयी, तो मेरी उम्मीदों पर पानी फिर गया. मेरी समझ में आ गया कि अब मेरे काम की तारीफ नहीं होनी है.’’

उधर शाहिद कपूर व सैफ अली खान ने अभी तक फिल्म ‘रंगून’ के दृश्यों को सेंसर होने के बाद विशाल भारद्वाज द्वारा कैंची चलाए जाने पर चुप हैं. इतना ही नहीं कंगना के इस बयान पर विशाल भारद्वाज भी खामोश हैं.

मगर बॉलीवुड में कंगना के इस बयान को फिल्म ‘‘रंगून’’ के बॉक्स आफिस पर असफल होने की स्थिति में भी अपनी कमीज को सफेद बनाए रखने की रणनीति के रूप में देखा जा रहा है.