सरिता विशेष

दिव्या खोसला कुमार निर्देशित फिल्म ‘‘यारियां’’ से अभिनय जगत में कदम रखने वाले अभिनेता हिमांश कोहली इस फिल्म के प्रदर्शित होने के बाद गायब हो गए थे. पूरे दो साल बाद वह अब फिर से अभिनय की तरफ मुड़े हैं. निर्माता पूर्णिमा मीड  और निर्देशक केशव पन्नेरी की फिल्म ‘‘जीना इसी का नाम है’’ में वह मंजरी फड़नीस के साथ हीरो बनकर आने वाले हैं. हाल ही में फिल्म ‘‘जीना इसी का नाम है’’ के लोगों के लांच के समय हिमांश से मुलकात हुई.

जब हिमांश से पूछा गया कि वह ‘‘यारियां’’ के बाद गायब कहां हो गए थे, तो हिमांश कोहली ने कहा- ‘‘फिल्म ‘यारियां’ में मेरे अभिनय को काफी सराहा गया. इसके बाद मेरे पास कई फिल्मों के आफर आए. पर हर फिल्म में वही स्कूल ब्वॉय के किरदार मिल रहे थे. मैने इन्हे करने से मना कर दिया. उसी वक्त मेरे एक शुभंचिंतक व एक फिल्मकार ने मुझे समझाया कि मुझे कुछ दिन दूसरा काम करके थोड़ा सा मैच्योर हो जाना चाहिए. अभी मैं चेहरे से बच्चा ही लगता हूं. इसलिए मैने पूरे डेढ़ साल का गैप लेकर अपने आपको तैयार करता रहा. अब जब हीरो के रूप में फिल्मे मिलना शुरू हुईं, तो सक्रिय हो गया हूं. फिल्म ‘जीना इसी का नाम है’ के अलावा एक अन्य फिल्म ‘स्वीटी देसाई वेड्स एन आर आई’ में हीरो बनकर आने वाला हूं. तो अब मुझे सही किरदार मिल रहे हैं. मैं काम करते हुए इंज्वाय कर रहा हूं.’’