मॉडल, वीडियो जॉकी, अभिनेत्री सोफिया हयात अपनी नई फिल्म ‘सिक्स एक्स’ को लेकर चर्चा में हैं. मगर बौलीवुड के लोग उनको लेकर भ्रमित हैं. सोफिया हयात को लेकर भ्रम की जो स्थिति पैदा हुई है, वह उन्होंने ही बनायी है.

वास्तव में अप्रैल 2016 में सोफिया हयात ने अचानक सफेद रंग की ‘नन’ जैसी पोषाक में अपनी तस्वीरें वायरल करते हुए पूरी दुनिया को बताया था कि अब वह ‘नन’ बन गयी हैं. पर पांच माह बाद ही सोफिया हयात एक बार फिर काफी ग्लैमरस व सेक्सी तस्वीरों में नजर आयी.

अब सोफिया हयात ने दावा किया है कि वह ईश्वर के आदेश का पालन करते हुए फिर से अभिनय के क्षेत्र में आ गयी हैं. अब वह अभिनय करने के साथ ही साथ लोगों की ‘हीलिंग’ करती रहेंगी.

जब सोफिया से पूछा गया कि वह जिस तरह से रूप बदल रही हैं, उससे लोगों के मन में उनको लेकर भ्रम पैदा होने के साथ साथ यह बात उभर रही है कि आप लोगों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ करते हुए उन्हें धोखा दे रही है. यानी कि आपकी ही वजह से यह बात उभर रही है कि हमारे देश में तमाम साधु संत महज पाखंड फैला रहे हैं. झूठ वे फरेबी हैं.

इस पर सोफिया हयात ने कहा, आपकी बात सही है. लोगों को ऐसा लग रहा है पर लोग जैसा मेरे बारे में सोच रहे है, वैसा नही है. मैं कोई पाखंड नहीं कर रही. मैं लोगों की भावनाओं से खेलने की कोशिश भी नहीं कर रही हूं. मगर आम जनता को हकीकत नहीं पता है. जिस दिन उन्हें हकीकत पता चल जाएगी, उस दिन वह समझ जाएंगे कि मैं पाखंड नही कर रही. मैं किसी को भी धोखा नहीं दे रही. मैं अभिनेत्री होते हुए भी नन हूं. कपड़े से कोई कुछ नहीं बनता. अभिनेत्री के कपड़े पहनकर भी मैं नन हूं. पर मैं शादी नहीं करुंगी. हम सब आत्मा हैं. पर हम इस बात को भूल जाते हैं.

देखिए, मैं जन्म से मुस्लिम हूं. मगर अब मैं ईश्वर के असली रूप से परिचित हो चुकी हूं. अब मेरे घर के अंदर गणेश, कृष्ण, शिव के साथ साथ क्रिश्चन धर्म का क्रास भी है. एक दिन ईश्वर का आदेश मिलने पर मैं ‘नन’ बन गयी थी. वापस ब्रिटेन लौट गयी थी. पर एक दिन लंडन के मेरे मकान में मेरे ध्यान में हिंदुओं के भगवान गणेश, कृष्ण व शंकर जी आए. उन्होंने मुझसे बात की. उसके बाद से मैंने अपने घर में गणेश जी की प्रतिमा भी रख लिया.

मैं नन की हैसियत से लोगों की भलाई करने में जुटी हुई थी. मेरे अंदर ईश्वर ने ‘हीलिंग पॉवर’ भरी है. मैं फोन पर बात करते हुए लोगों की तकलीफ दूर कर देती हूं. फिर एक दिन ईष्वर आए और उन्होंने मुझसे कहा कि मुझे आम इंसानों की तरह जिंदगी जीते हुए, हर काम को करते हुए लोगों की भलाई करते रहना चाहिए. लोगों के दुखों को दूर करते रहना चाहिए. मैंने लंदन में कईयों के दुख दूर किए.

मुंबई में भी मैंने कुछ लोगों को बताया कि उनके पूर्वज उनसे क्या कहना चाहते हैं. मैं एकाग्रचित होने पर किसी के भी स्वर्गसिधार चुके माता पिता या अन्य परिजन से बात कर लेती हूं.

जहां तक अभिनय का सवाल है, तो सोफिया हयात ने चंद्रकांत सिंह निर्मित फिल्म ‘सिक्स एक्स’ में अहम किरदार निभाया है. इस फिल्म व किरदार की चर्चा करते हुए सोफिया हयात ने कहा, इसमें छह लोगों की छह अलग अलग कहानियां हैं. एक कहानी में मैं हूं, मैंने इस फिल्म में ब्रिटिश फैशन आइकॉन बनी हूं. जो अपनी दोस्त से मिलने के लिए भारत आती है. वह मुंबई में अपने एक पुरूष दोस्त के साथ रहती है, पर उसे अपने नजदीक नहीं आने देती. जब वह मेरे करीब आना चाहता है, तो मुझे जलन होती है.

इस फिल्म में मेरे सह कलाकार अश्मित पटेल हैं. वास्तव में इस फिल्म में जजमेंट की बात की गयी है. इस फिल्म में दिखाया गया है कि हम किसी भी इंसान को उसके पहनावे या उसे बाहर से देखकर उसके बारे में कोई एक निर्णय या राय बना लेते हैं. जबकि वह सच नही होता. जैसे कि लोग मेरी निजी जिंदगी को लेकर इन दिनों राय बना रहे हैं.