सरिता विशेष

मध्य प्रदेश में एक छोटा कस्बा है मुंगावली, जहां न तो कोई स्कूल है और न ही कोई सिनेमा घर. इसी कस्बे के एक किसान परिवार के बेटे गौरव इन दिनों भट्ट कैंप की विक्रम भट्ट निर्देशित अति सेक्सी व इरोटिक फिल्म ‘‘लव गेम्स’’ में अभिनय करके शोहरत बटोर रहे हैं. महेश भट्ट तो ‘‘लव गेम्स’’ को ‘थ्रीसम’ फिल्म मानते हैं. इस फिल्म में गौरव अरोड़ा ने सैम नामक ऐसे बिगड़ैल युवक का किरदार निभाया है, जो कि बहुत ही अमीर खानदान का बेटा है. उसके पास धन की कमी नहीं है. जो हमेशा ड्रग्स और सेक्स में ही डूबा रहता है. इतना ही नहीं एक तरफ उसे प्यार से जीतने के लिए प्रयासरत तारा अलीशा बेरी है, तो दूसरी तरफ अति माडर्न व सेक्सी औरत रोमाना सिकंद यानी कि अभिनत्री पत्रलेखा हैं, जो कि उसे सेक्स में ही डुबाए रखना चाहती है. यानी कि फिल्म ‘‘लव गेम्स’’ में सेक्सी सीन की भरमार है.

अपने किरदार की चर्चा करते हुए गौरव अरोड़ा कहते हैं-‘‘सैम का किरदार है. बहुत ही ज्यादा बिगड़ा हुआ लड़का है. उसे कभी कुछ करने की जरुरत नही पड़ी. उसे जब जो चाहिए मिल जाता है. उसके पास इतना पैसा है कि सेक्स हो या ड्रग्स, सब कुछ उसके पास खुद ही पहुंच जाता है. उसे किसी बात का अहसास ही नहीं होता. इसलिए कभी कभी दर्द का अहसास करने के लिए वह खुद को ही काट लेता है. कई बार उसे यही समझ में नही आता कि वह जिंदा है या नहीं.’’

इस तरह की सेक्सी फिल्म से अपने करियर की शुरूआत करने को जायज ठहराते हुए गौरव अरोडा कहते हैं-‘‘यह सिर्फ सेक्स फिल्म नही है. यह फिल्म प्यार की बात करती है. लड़का कहां फंसा हुआ है और उसे प्यार में क्यों यकीन नही है, यह सब दिखाने के लिए कुछ चीजें दिखानी जरुरी थी. देखिए, मुंगावली के लोग गर्वांन्वित महसूस कर रहे हैं कि उनके यहां सिनेमाघर न होते हुए भी मैं फिल्मों का हिस्सा बन गया हूं. दो दिन पहले ही पापा से बात हो रही थी. वह खुश थे. उन्होने बताया कि अब लोग उन्हें ‘गौरव का पापा’ कह कर बुलाते हैं.’’