शायद अब चर्चित फिल्म निर्देशक आनंद एल राय उस दिन को कोस रहे हैं, जब उन्होंने फिल्म निर्माता बनकर दूसरे प्रतिभाशाली निर्देशकों को एक मंच देने का निर्णय लिया था. आनंद एल राय ने समीर शर्मा के निर्देशन में आयुष्मान खुराना और भूमि पेडणेकर को लेकर फिल्म ‘‘मनमर्जिया’’ बनाने का निर्णय लिया था. लेकिन यह फिल्म दो साल से नहीं बन पायी. समीर शर्मा के निर्देशन में इस फिल्म के कुछ हिस्से दो बार फिल्माए जा चुके हैं. जिससे असंतुष्ट होने पर आनंद एल राय ने समीर शर्मा को हटाकर अश्विनी अय्यर तिवारी को ‘मनर्जिया’ का निर्देशक बनाया. मगर अश्विनी अय्यर तिवारी कुछ समय यूं ही टरकाती रही.

फिर वह ‘मनमर्जिया’ की बजाय लखनऊ जाकर ‘‘जंगली पिक्चर्स’’ की फिल्म ‘बरेली की बर्फी’ की शूटिंग करने लगी और उन्होंने कह दिया कि वह अब ‘मनमर्जिया’ का निर्देशन नहीं करेंगी. तब आनंद एल राय ने इस फिल्म के निर्देशन के लिए अनुराग कश्यप से बात की. अनुराग तैयार भी हुए. मगर सूत्रों के अनुसार फिर अनुराग कश्यप ने कुछ ऐसी शर्तें रख दी, जो कि आनंद एल राय को पसंद नही आयी. इसलिए मामला लटक गया. उधर आयुष्मान खुराना ‘बरेली की बर्फी’ में व्यस्त हैं. जबकि भूमि पेडणेकर ‘टायलेट एक प्रेम कथा’ में व्यस्त हैं.

तो दूसरी तरफ कोई दूसरा निर्देशक ‘मनमर्जिया’ निर्देशित करने के लिए तैयार नहीं है. जबकि खुद आनंद एल राय अपनी शाहरुख खान के साथ वाली फिल्म की तैयारी में व्यस्त हैं. इसलिए सूत्र दावा कर रहे हैं कि अब ‘‘मनमर्जिया’’ नहीं बनने वाली है.