सरिता विशेष

अभिषेक बच्चन स्टार सन हैं. उनके पिता अमिताभ बच्चन को अभिनय जगत में महानायक कहा जाता है. लेकिन अभिषेक बच्चन का अपना अभिनय करयिर संवरने का नाम ही नहीं ले रहा है. वह कुछ मल्टीस्टारर फिल्मों में शाहरुख खान या अजय देवगन की दया माया पर ही निर्भर हैं. लंबे समय बाद अभिषेक बच्चन को सोलो हीरो वाली फिल्म ‘‘आल इज वेल’’ मिली थी, मगर यह फिल्म बाक्स आफिस पर चारो खाने चित हो गयी. जिसकी वजह से संजय गुप्ता ने अभिषेक बच्चन को लेकर सोलो हीरो वाली फिल्म ‘‘एक था गैंगस्टर’’ बनाने की जो घोषणा की थी, उसे उन्होंने हमेशा के लिए बंद कर दिया. कुल मिलाकर आज की तारीख में अभिषेक बच्चन के पास एक भी फिल्म नहीं है.

कहने को तो अभिषेक बच्चन दावा कर सकते हैं कि उनके पास दो मल्टी स्टारर फिल्में ‘हाउसफुल 3’ और ‘हेराफेरी 3’ हैं. मगर यह दोनों फिल्में भी लंबे समय से रूकी हुई हैं. मजेदार बात यह हुई कि इधर अभिषेक बच्चन अपने पूरे परिवार के साथ मालदीव में जन्मदिन मनाने पहुचे, उधर संजय गुप्ता की फिल्म ‘‘एक था गैंगस्टर’’ के न बनने की खबर आ गयी.

सूत्रों की माने तो ‘‘एक था गैंगस्टर’’ के न बनने की खबर के आते ही अभिषेक बच्चन और उनके पिता अमिताभ बच्चन भी परेशान हो गए. अभिषेक बच्चन के सामने अब उनके पिता ही एकमात्र सहारा नजर आए. सूत्रो के अनुसार उसके बाद शुरू हुआ फिल्मी जुगाड़. सूत्रों के अनुसार उसी दिन अमिताभ बचन कैंप की तरफ से साजिद नाडि़याडवाला से बात की गयी और साजिद नाडि़याडवाला ने आनन फानन में अभिषेक बच्चन की एक तस्वीर मीडिया को जारी करते हुए दावा किया कि यह तस्वीर फिल्म ‘‘हाउसफुल-3’’ में अभिषेक बच्चन के लुक की है. सवाल यह है कि अब तक ‘हाउसफुल 3’ को लेकर सभी चुप क्यों थे. और अचानक अभिषेक बच्चन की ही तस्वीर जारी करने का मकसद?

बहरहाल, मामला यहीं तक नहीं रूका. अब अमिताभ बच्चन के नजदीकी सूत्र दावा कर रहे हैं कि अमिताभ बच्चन ने एक बार फिर अभिषेक बच्चन को सोलो हीरो के रूप में मैदान में उतारने के लिए कमर कस ली है और अब अमिताभ बच्चन अपनी होम प्रोडक्शन कंपनी ‘‘ए बी सी एल’’ की फिल्म में अभिषेक बच्चन को सोलो हीरो पेश करना चाहते हैं. सूत्रों के अनुसार इसके लिए अच्छी पटकथा की तलाश शुरू हो गयी है. सूत्रों के अनुसार इस बार अभिषेक बच्चन के लिए हार्ड हीटिंग तथा सम सामायिक मुद्दों वाले विषय की तलाश की जा रही है. क्योंकि संजीदा व रोमांटिक फिल्मों में दर्शक अभिषेक बच्चन को अस्वीकार कर चुके हैं, इसलिए इस तरह की फिल्म में अब रिस्क न लेने का मन बना लिया गया है.

सूत्र बताते है कि अमिताभ बच्चन लंबे समय से 2013 की सफल मलयालम फिल्म ‘मुंबई पुलिस’ का हिंदी रूपांतरण बनाना चाह रहे थे. मगर इस फिल्म में समलैंगिकता का मुद्दा भी है, इसलिए वह रूके हुए हैं. सूत्र यहां तक दावा कर रहे हैं कि इस बार ‘एबीसीएल’ के तहत अभिषेक बच्चन को सोलो हीरो लेकर कम बजट वाली यानी कि 15 करोड़ रूपए से कम बजट की ही फिल्म बनाने की बात तय की गयी है. फिल्म के सेटेलाइट राइट बेचने की जिम्मेदारी खुद अमिताभ बच्चन ने ली है. यह सभी को पता है कि सभी सेटेलाइट चैनलों से अमिताभ बच्चन के काफी अच्छे संबंध हैं. बहरहाल, देखना यह होगा कि अमिताभ बच्चन का यह प्रयास अभिषेक बच्चन के करिय में क्या गुल खिलाता है.