इन दिनों बौलीवड में बायोपिक फिल्मों का दौर चल रहा है और अभिषेक बच्चन ऐसी बायोपिक फिल्म बनाना या ऐसी बायोपिक फिल्म में अभिनय करना चाहते हैं, जिसमें मानवीय दृष्टिकोण के साथ बेहतरीन कहानी हो. पिछले दिनों जब अभिषेक बच्चन से हमारी मुलाकात हुई, तो हमने उन्हें याद दिलाया कि उनके दादाजी स्व. हरिवंश राय बच्चन ने कई कविताएं व कहानियां लिखी हैं. वह अपने दादाजी पर फिल्म बनाने के बारे में क्यों नहीं सोचते?

हमारे इस सवाल पर अभिषेक बच्चन ने कहा-‘‘मैं अपने दादाजी हरिवंश राय बच्चन के लेखन पर फिल्म बनाना चाहूंगा. आज ही इस बारे में डैड से बात करुंगा. मैने उन्हें बहुत पढ़ा है. उन्होंने जो कुछ लिखा है, जो ग्रंथावली लिखी है, वह आज भी लोगों को प्रेरणा देती है. पहले हर दिन रात्रिभोज के बाद मेरे डैड हमें दादाजी की कविताएं पढ़कर सुनाया करते थे. उनकी हिंदी बहुत क्लिष्ट है, तो डैड हमें उसका अर्थ भी समझाया करते थे. कोई भी दुविधा हो, उसका जवाब दादाजी की कविताओं में मिल जाएगा. इंसान की समस्या का हल उनकी किसी न किसी कविता में निकल ही आएगा.’’