अत्युल्य भारत अभियान के प्रचार से अभिनेता आमिर खान का चेहरा अब गायब हो रहा है. अब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को अत्युल्य भारत के प्रचार में प्रयोग किया जायेगा. इसके लिये प्रधानमंत्री मोदी को अत्युल्य भारत अभियान का ब्रांड एम्बेसडर जैसे नामों से नहीं जाना जायेगा. कब तक के लिये प्रधानमंत्री को इस अभियान से जोड़ा जा रहा है यह अभी तय नहीं है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर अत्युल्य भारत अभियान की शूटिंग के लिये नई प्रचार सीरिज को तैयार जा रही है. इसकी जल्द शूटिंग की तैयारी की जा रही है. शूटिंग के बाद ही यह पता चल सकेगा कि अत्युल्य भारत अभियान के प्रचार में कैसा दिखेगा. वैसे भी केन्द्र सरकार के प्रचार सामाग्री में प्रधानमंत्री मोदी के फोटो का प्रयोग किया जा रहा है. प्रधानमंत्री मोदी अपनी पोशाक और स्टाइल के लिये पहले से ही काफी मशहूर रहे हैं. उनके सूट की चर्चा लोकसभा में हो चुकी है.

मीडिया के नये जमाने में पोशाक और स्टाइल का अपना महत्व होता है. ऐसे में नेताओं के पहनावे में काफी तेजी से बदलाव होने लगा है. केवल पहनावा ही नहीं पूरा स्टाइल बदल चुका है. प्रधानमंत्री मोदी खुद अपने स्टाइल की चर्चा करते रहते है. उनके प्रधानमंत्री बनने के बाद जैकेट और हाफ बांह वाले लम्बे कुर्ते का प्रचलन बढ गया है. केवल नेता ही नही युवाओं ने भी तेजी से उसे पहनना शुरू कर दिया है. सरकार को इसी कारण से लगा होगा कि वह अत्युल्य भारत अभियान के प्रचार में प्रधानमंत्री मोदी की छवि का प्रयोग करे. जानकार लोग मानते हैं कि इससे प्रधानमंत्री मोदी को पूरे देश में पहुंचाना सरल हो जायेगा.

विरोधी कुछ भी कहें पर प्रधानमंत्री मोदी के नये लुक को देखने के लिये एडवरटाइजिंग बिजनेस से जुडे लोग बेसब्र हो रहे हैं. उनको यह देखना है कि मोदी का क्या रूप सामने आता है और क्या जनता उसको स्वीकार करती है. इसी वजह से पूरी रणनीति सामने नहीं रखी जा रही है. जानकार लोगों का कहना है कि अत्युल्य भारत अभियान की शूटिंग होने के बाद ही यह तय होगा कि प्रचार का स्वरूप क्या होगा? तब तक इस मसले पर कोई बोलने को तैयार नहीं है. यह तय है कि अगर सबकुछ अच्छा रहा तो जल्द ही प्रधानमंत्री मोदी अत्युल्य भारत अभियान के तहत भारत की कला, संस्कृति और मेहमानवाजी की तारीफ करते नजर आयेगे.