सरिता विशेष

लंबी कवायद के बाद जम्मूकश्मीर में पीडीपी और भाजपा का ब्रेकअप खत्म हो गया है, अब महबूबा मुफ्ती वहां की पहली महिला मुख्यमंत्री होंगी. यह पुनर्मिलाप किन शर्तों पर हुआ, इस का खुलासा शायद ही सार्वजनिक हो पर दोनों पार्टियों के स्वार्थ इस में साफ दिख रहे हैं. भाजपा इस राज्य में पहली बार मिले समर्थन को खोना नहीं चाहती थी और राज्यसभा में भी मजबूती चाहती है ताकि विपक्षी कभी विधेयक पारित कराने में टांग न अड़ाएं. उधर महबूबा भी परेशान थीं कि वक्त रहते सरकार न बनाई तो जमीन तो उन की भी कमजोर होती, लिहाजा सीधे नरेंद्र मोदी से मिलीं और फिर सरकार बनाने का दावा पेश करते विकास की जमीन पर आ गईं. देर से ही सही दोनों दलों को ज्ञान तो मिला कि वजूद बनाए रखना है तो ज्यादा देर ठीक नहीं वरना वोटर खफा हो सकते हैं.