सरिता विशेष

मध्य प्रदेश के वरिष्ठ और अति बुजुर्ग मंत्री बाबूलाल गौर एक नये विवाद मे फँस गये हैं जो दरअसल मे बेहद आम स्त्री पुरुष सम्बन्धों के लिहाज से है. हुआ यूँ कि नई लो फ्लोर बसों के शुभारम्भ पर यात्रियों को बस मे चढ़ाते गौर ने एक महिला के नितम्ब पर हाथ रख दिया जिसका किसी ने वीडियो बनाकर वाइरल कर दिया. इस बीडीओ मे साफ दिख रहा है कि कथित पीडित महिला जो भाजपा कार्यकर्ता भी है को बस मे चढ़ाते गौर ने उसे पीछे से छुआ. अब हल्ला इस बात पर मच रहा है कि रंगीन मिजाज गौर ने ऐसा जानबूझ कर किया यानि उनकी नीयत मे खोट था और उनकी मंशा शुद्ध छेड़छाड़ की थी काँग्रेस तो उन्हे घेर ही रही है पर खुद भाजपा की ही महिला विधयक उन पर आरीप मढ़ रही हैं. विवाद बढ़ता देख मुख्य मंत्री शिवराज सिंह ने उन्हे तलब किया है.

अपनी तरफ़ से गौर सफाई दे चुके हैं कि यह किसी की  कारगुज़ारी है सच कूछ भी हो सकता है पर एक सच यह भी है कि बुढ़े भी मौका देख छेड़छाड़ करते हैं लेकिन उनकी उम्र और सफेद वालों का लिहाज करते महिलायें उनकी हरकतों को नज़र अंदाज़ कर जाती हैं और युवतिया ज़रूर आपस मे चटखारे लेकर बतियाती रहती हैं कि बाप दादा की उम्र के मर्द भी हरकतों से बाज नहीँ आते गौर के मामले मे तो पीडिता ने कोई शिकायत ही नहीँ की है पर भाजपा का ही एक धड़ा महिला के पीछे पड़ गया है कि वह सामने आकर शिकायत दर्ज कराये नारी सम्मान और नैतिकता का दम्भ भरने बाली भाजपा से गौर की यह हरकत न उगलते बन रही है न निगलते मामले का यह पहलू भी कम दिलचस्प नहीँ कि गौर ने कोई बड़ा गुनाह नहीँ कर दिया है सम्भव है यूँ ही बेख्याली मे उनका हाथ महिला को छू गया हो पर वीडियो देख लोग यह छूट उम्र के आधार पर उन्हे देने तैयार नहीँ क्योंकि ऐसा इरादतन करना वे मान रहे हैं.दम ती इन चर्चाओं मे भी है कि गौर राघव जी भाई से तो बेहतर हैं जिन पर अपने नौकर राज़ कुमार के यौन शोषण का मुकदमा चल रहा है