छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रह चुके अजीत जोगी के विधायक बेटे अमित जोगी को कांग्रेस से बाहर कर दिया गया है. अमित जोगी पर आरोप है कि उन्होंने अंतागढ़ उपचुनाव में भाजपा से सौदेबाजी की थी, जिस के तहत कांग्रेस उम्मीदवार ने अपना नाम वापस ले कर भाजपा को थाल में सजा कर यह सीट दे दी थी.

अमित जोगी को बाहर निकाले जाने की उम्मीद नहीं थी, इसलिए शुरू में तो पार्टी में वापिसी के लिए वे दिल्ली जा कर सोनिया गांधी और राहुल गांधी के दरबार के चक्कर काटते रहे, पर वहां भाव नहीं मिला तो वापस आ कर जगहजगह यह बता रहे हैं कि जोगी खानदान किसी पेड़ की डाल नहीं है, जिसे काटा जा सके. इनेगिने समर्थकों के सहारे कांग्रेस पर दबाव बनाने की नाकाम कोशिश कर रहे अमित जोगी को जगहजगह लड्डुओं से तोला गया, तो ताना कसने वालों ने यही कहा कि अभी खा लो लड्डू, फिर शायद ये भी न मिलें.