सरिता विशेष

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके अखिलेश यादव को जिस तरह यूपी में हार मिली, वैसी हार की उम्मीद नहीं की जा रही थी. भाजपा उन पर यह आरोप लगाती रही कि अखिलेश यादव की सरकार में उत्तर प्रदेश में बहुत गुंडागर्दी हुई और उनकी सरकार में अपराधी बेखौफ घूमते रहे.

उत्तर प्रदेश में सरकार बनाने के बाद भाजपा ने कहा था कि, ‘अब उत्तर प्रदेश में गुंडागर्दी बरदाश्त नहीं की जाएगी, इसलिए अब अपराधी या तो उत्तर प्रदेश छोड़ दे या फिर अपराध छोड़े दे.’ लेकिन अब हम देख ही रहे हैं कि, उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार आने के बाद गुंडागर्दी अपने चरम सीमा पर पहुंच चुकी है.

इसके अलावा हद तो यहां तक बढ़ चुकी है कि हिन्दू संगठन के गुंडे बेखौफ अल्पसंख्यकों और पुलिस वालों पर हमले कर रहे हैं. इन्हीं सब समस्याओं पर हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान अखिलेश यादव ने अपने चुटीले अंदाज में जनता को ऐसे-ऐसे जवाब दिए कि, उन्होंने सबका दिल जीत लिया.

इंटरव्यू में अखिलेश यादव से सवाल किया गया कि, ‘जब शपथ ग्रहण हो रहा था तब मोदी जी और मुलायम सिंह जी के बीच क्या बात हुई क्या आप बता सकते हैं? इसके जवाब में अखिलेश यादव ने बताया कि, अगर मैं बता दूंगा तो आप सच नहीं मानोगे. अखिलेश यादव ने बताया कि, नेता जी ने प्रधानमंत्री मोदी जी को कहा कि, प्रधानमंत्री जी बचके रहना ये मेरा बेटा है.’ अखिलेश यादव ने अपने चुटीले अंदाज में नोटबंदी पर भी हमला बोलते हुए कहा कि, ‘नोटबंदी से कौनसा लाभ हो गया हमें बता दो.’

इसके अलावा उत्तर प्रदेश में बढ़ रही हिन्दू युवा वाहिनी के लोगों की गुंडागर्दी को देखते हुए अखिलेश यादव ने इन लोगों को भी सबक सिखा दिया. अखिलेश यादव की ये बातें सुन रहे सामने बैठे पत्रकारों की भी बोलती बंद हो गई और वो भी अखिलेश के इस अंदाज को देखकर उनकी बातों पर मुस्कुराने लग गए. अखिलेश यादव अपने इसी मिजाज़ के कारण ही तो जाने जाते हैं और अपने इन जवाबों से अखिलेश यादव ने पत्रकारों को बोलने लायक भी नहीं छोड़ा.