बोटोक्स या फिलर ही नहीं कई तरह की सर्जरी भी परफैक्ट लुक देने में कारगर है. चेहरे के दागधब्बों को दूर कर चेहरे पर चमक लाने के लिए कैमिकल पील करवाना भी खासा पौपुलर है. परमानैंट हेयर रिमूवल और टमी टक कुछ ऐसे उपचार हैं, जिन से पर्सनैलिटी में गजब का निखार आ जाता है. मगर गौर करने वाली बात यह है कि इन सब के लिए शादी से कुछ महीने पहले ही प्लान करना जरूरी है.

आप चाहें तो शादी से 1 महीना पहले बोटोक्स व लिप फिलर इंजैक्शन जरूर करवा सकती हैं. जहां आप बोटोक्स से अपनी उम्र कम दिखा सकती हैं, वहीं लिप फिलर होंठों में आकर्षक उभार लातें हैं.

डर्माब्रेशन, लेजर स्किन रीसर्फेसिंग व कैमिकल पील जैसे ट्रीटमैंट के बेहतर परिणाम के लिए इन्हें कुछ मामलों में दोहराना भी पड़ सकता है. जो महिलाएं खुद में खास बदलाव देखना चाहती हों वे फेस लिफ्ट, लाइपोसक्शन व बौडी कंटूरिंग भी करवा सकती हैं. जो अपनी ब्रैस्ट को सही शेप देना चाहती हैं, वे ब्रैस्ट सर्जरी का सहारा ले सकती हैं.

हालांकि ये सभी सर्जरी एक दिन में होने वाली हैं और आप उसी दिन घर भी जा सकती हैं, लेकिन सर्जरी का निशान हटने में थोड़ा समय लगता है. इसीलिए यदि शादी के पहले सर्जरी करवानी हो तो 3 से 6 महीने पहले करवाना ही बेहतर होगा.

बोटोक्स व फिलर प्रक्रिया

अगर आप यह ट्रीटमैंट लेने जा रही हैं, तो पहले चेहरे को अच्छी तरह साफ कर लें. इंसुलिन इंजैक्शन जैसे छोटे बोटोक्स के इंजैक्शन चेहरे पर लगाए जाते हैं. इस पूरी प्रक्रिया में 15 से 20 मिनट का समय लगता है. इस का तुरंत असर नहीं होता. 3 से 7 दिनों के अंदर इस का असर चेहरे पर दिखाई देने लगता है. यह असर 3 से 6 महीनों तक बरकरार रहता है.

रिंकल्स, पिंपल्स, डार्क सर्कल्स, ल्यूकोडर्मा जैसी कौमन ब्यूटी प्रौब्लम्स का इलाज आज कौस्मैटिक के एडवांस ब्यूटी ट्रीटमैंट्स ने संभव बनाया है. इन ट्रीटमैंट्स का सहारा ले कर अपनी त्वचा की रंगत निखारने के साथसाथ होंठों, गालों, नाक, कानों, आईब्रोज आदि के आकार में भी स्थाई रूप से मनचाहा परिवर्तन करा सकती हैं. ये परिवर्तन खूबसूरती में चार चांद लगा देंगे.

क्या है राइनोप्लास्टी

अगर आप की नाक की शेप प्रौपर नहीं है, तो आप 1-2 घंटों में हो जाने वाले इस ट्रीटमैंट की मदद से सही शेप पा सकती हैं. यही नहीं इस के साथ ही अपने ऊपरी लिप पार्ट और नोज के बीच नोज पौइंट का ऐंगल भी ठीक करवा सकती हैं. चाहें तो इसे फेस लिफ्ट के साथ भी करवा सकती हैं.

इस के लिए आप को बस एक दिन के लिए ही एडमिट होना पड़ेगा. हां, पूरी तरह से सूजन जाने में 2 महीने का वक्त लग जाता है. मगर अपने कामकाज पर 2-3 हफ्ते बाद लौट सकती हैं. इस पर खर्च करीब क्व50 से 70 हजार तक आता है.

प्लास्टिक सर्जरी भी है विकल्प

शरीर के किसी भी अंग पर चोट लगने या जलने के कारण जो हिस्सा भद्दा दिखाई देता है, उसे प्लास्टिक सर्जरी द्वारा ठीक किया जा सकता है. इस ट्रीटमैंट में जांघों के पास की स्किन को निकाल कर उस जगह लगा दिया जाता है.

प्लास्टिक सर्जरी की इस विधि को स्किन ग्राफ्टिंग कहते हैं. युवतियां नाक, होंठ, मुंह की चौड़ाई, ब्रैस्ट आदि की सर्जरी ज्यादा कराती हैं.

पुरुषों के लिए आजकल हेयर ट्रांसप्लांट और छाती आदि कौस्मैटिक सर्जरी ज्यादा चलन में है.

ट्रीटमैंट से पहले इन बातों का रखें ध्यान

ट्रीटमैंट लेने से 6-7 घंटे पहले तक ग्रीन टी लेना अवौइड करें. अगर आप की स्किन ऐलर्जिक है, तो पहले अपने डाक्टर को इस की जानकारी जरूर दें. अगर आप प्रैगनैंट हैं या फिर किसी तरह का न्यूरोलौजिकल डिसऔर्डर है तो जरूर डाक्टर को इस के बारे में बता दें. 60 की उम्र पार कर चुकी हैं तो ट्रीटमैंट लेने से 2 दिन पहले तक अलकोहल और स्मोकिंग न करें. ब्रैस्ट फीडिंग कराने वाली महिलाओं को इस से बचना चाहिए.

बाद में भी ध्यान देना है जरूरी

– डाक्टर की सलाह से ही मसाज या फेस के लिए दूसरे ब्यूटी ट्रीटमैंट्स लें.

– कुछ दिनों तक ज्यादा झुक कर सफाई करने या फिर सामान उठाने से बचें.

साइड इफैक्ट

वैसे तो बोटोक्स का किसी भी तरह का साइड इफैक्ट नहीं होता, पर सभी की स्किन एकजैसी नहीं होती है. इसलिए किसी को भी इस का अलग रिस्पौंस मिल सकता है. चेहरे पर जलन और मार्क्स हो सकते हैं.

द्य सिरदर्द, नजलाजुकाम और आंखों के आसपास की स्किन लाल हो कर उस में खुजली या फिर फेशियल पेन भी हो सकता है.

खर्च

सही खर्च का पता आप के चेहरे पर निर्भर करता है. अगर आप केवल आंखों के हिस्सों तक ही ट्रीटमैंट करवाती हैं, तो इस का पूरा खर्च क्व4 हजार से ले कर क्व7 हजार के बीच आता है. जो आखों के ऊपरी हिस्से यानी माथे पर इस ट्रीटमैंट को करवाना चाहती हैं तो आप को क्व12 हजार से ले कर क्व20 हजार तक खर्चने पड़ सकते हैं. वहीं प्लास्टिक सर्जरी करवाने के लिए इस से कहीं अधिक रकम खर्च करनी पड़ सकती है.

सर्जरी का बढ़ता बाजार

कौस्मैटिक तथा प्लास्टिक सर्जरी जैसे उपाय उन के लिए वरदान हैं, जिन्हें किसी वजह से शरीर या चेहरे की विकृति का सामना करना पड़ता है. लेकिन अब मानसिक संतुष्टि और आकर्षक दिखने की होड़ ने इसे एक अलग तरह का बाजार उपलब्ध करवा दिया है.

इस बाजार का सब से बड़ा खरीदार है युवावर्ग. भारत जैसे देश में यह सर्जरी लोगों के लिए वरदान बन गई है. यही नहीं केवल शादी के मुख्य दिन के लिए युवाओं की बड़ी संख्या अब भारी रकम खर्च कर चेहरे और शरीर का कायाकल्प करवाने में जुटी है.

– डा. करुणा मल्होत्रा, कौस्मैटिक स्किन ऐंड होम्योक्लीनिक