कुत्ते इंसान के बेहद करीब रहे हैं. एक प्रकार के पालतू जानवर हैं ये. इनकी प्रजाति इंसानों के बीच विकसित हुई है. कुत्ते का काटना एक समय में काफी खतरनाक माना जाता था. पुराने समय में इसके काटने से जो बीमारी लोगों को होती थी उसका कोई इलाज नहीं था. जिसके कारण लोग काटने से हुई बीमारी से मर जाते थे. पर आज ये उतना गंभीर या कहें तो खतरनाक नहीं रहा. मेडिकल साइंस में कुत्ता, बिल्ली जैसे पशुओं के काटने से होने वाले संक्रमण का इलाज अब मुमकिन है.

आज इस खबर में  हम आपको रेबिज से बचने के कुछ उपाय बताएंगे. हम आपको जानकारी देंगे कि अगर आपको किसी कुत्‍ते ने काट लिया है तो, उसके वायरस से कैसे बचा जा सकता है.

जब किसी को कुत्ता काट ले तो इन उपायों को ध्यान में रखें

कुत्ते के काटे हिस्से को पानी से धोएं

कुत्तों के काटने पर घाव को पानी की तेज धार से कई बार धोएं. इससे बैक्टीरिया और कीटाणुओं का सफाया हो जाता है. जरुरत पड़ने पर एंटीबैक्‍टीरियल साबुन का प्रयोग करें.

घाव को जोर से दबाएं

कुत्ते के काटने पर खून को रोकना जरूरी होता है. इसलिए जब घाव से खून आए तो उसे जोर से दबाएं.

एंटीबायोटिक क्रीम लगाएं

कुत्ते के काटने पर सबसे महत्वपूर्ण होता है इंफेक्शन को रोकना. इसलिए जरूरी है कि आप घाव पर तुरंत एंटीबायोटिक क्रीम लगा लें. इससे इंफेक्सन का खतरा कम हो जाता है.

बैंडेज लगाएं

एंटी बैक्टीरियल क्रीम लगाने के बाद उसको बैंडेज से बांध लें. इससे घाव पर दोबारा इंफेक्शन का खतरा नहीं रह जाता.

डाक्टर के पास जाएं

डाक्‍टर के पास जा कर तुरंत ही टिटनेस का इंजेक्‍शन लगवाएं.

Tags:
COMMENT