त्योहारों के आते ही बधाई संदेशों का सिलसिला तेज हो जाता है. समय के साथसाथ बधाई संदेशों का चलन बदलता जा रहा है. टैलीग्राम, ग्रीटिंगकार्ड, ईमेल, एसएमएस से गुजरते हुए बधाई संदेश व्हाट्सऐप और फेसबुक तक पहुंच गए. एसएमएस और व्हाट्सऐप से बधाई संदेश भेजने में यह सहूलियत होने लगी कि एकसाथ सैकड़ों लोगों को ये भेजे जा सकते हैं. एसएमएस के जरिए केवल टैक्सट यानी लिखे हुए मैसेज ही भेजे जा सकते हैं. व्हाट्सऐप में लिखे हुए मैसेज के साथ फोटो, वीडियो और वौयस मैसेज भी भेजे जाने की सुविधा मिल गई. यह एसएमएस से अधिक प्रभावी दिखने लगा. मल्टीमीडिया फोन के चलन में आने के बाद से एसएमएस लगभग पूरी तरह बंद हो गए. अब ज्यादातर व्हाट्सऐप के जरिए ही बधाई संदेशों को भेजा जाता है.

व्हाट्सऐप में कटपेस्ट कर के एक ही मैसेज, फोटो, बधाई संदेश या औडियोवीडियो संदेश कई दोस्तों को भेजे जा सकते हैं. व्हाट्सऐप में ब्रौडकास्ट और व्हाट्सऐप ग्रुप जैसे औप्शन मिलने लगे जिन के जरिए हर तरह के बधाई संदेश एकसाथ सैकड़ों लोगों को भेजे जाने लगे. समय के साथ बधाई संदेश देने का पुराना साधन पीछे छूटता गया. बधाई संदेश देने का नया साधन आगे बढ़ता गया. एसएमएस के जमाने में टैलीकौम कंपनियां होली, दीवाली, क्रिसमस और नए साल पर एसएमएस वाले अपने रैगुलर पैकेज बंद कर देती थीं क्योंकि वे कम बजट वाले होते थे. बधाई संदेश के लिए टैलीकौम कंपनियां ज्यादा पैसे वसूलने लगी थीं.

अपनेपन से दूर बधाई संदेश

मल्टीमीडिया फोन आने के बाद व्हाट्सऐप और फेसबुक बधाई संदेश देने के नए माध्यम बन गए. फेसबुक मैसेंजर और फेसबुक वाल पर बधाई संदेश का चलन बढ़ा तो सामान्य लिखे मैसेज वाले बधाई संदेश पुराने दिनों की बात हो कर रह गए. फेसबुक के साथ इंस्ट्राग्राम और ट्विटर भी बधाई संदेश देने के साधन बन गए हैं. आज के समय में व्हाट्सऐप ने बाकी बधाई संदेश देने के औप्शंस को सीमित कर दिया है. व्हाट्सऐप के बधाई संदेश लोगों को शुरुआत में बहुत पसंद आए पर बाद में ये बहुत औपचारिक से लगने लगे. बहुत ही जल्द व्हाट्सऐप के बधाई संदेश अपनेपन से दूर भी होने लगे.

व्हाट्सऐप पर रोज ही सुबहशाम गुडमौर्निंग, गुडईवनिंग के अलावा और भी तरह के मैसेज आते रहते हैं. मैसेज की अधिकता के कारण व्हाट्सऐप से बधाई संदेश देने में नएपन का एहसास खत्म होने लगा. बधाई संदेश आने पर कुछ नयापन नहीं लगता.

कई बार एक ही बधाई संदेश बारबार अलगअलग लोगों से मिलता है. जिस से यह लगता है कि कहीं से आया मैसेज, कहीं भेज दिया गया. इस से बधाई संदेश का आकर्षण खो जाता है.

व्हाट्सऐप से बधाई संदेश देने के लिए अपनी वौयस रिकौर्ड कर के भी बधाई संदेश दे सकते हैं. इस से पाने वाले को अलग किस्म का एहसास होगा. बेहतर यह होगा कि एक ही रिकौर्ड को सभी को न भेजें. सब के लिए अलगअलग वौयस रिकौर्ड करें. जब आप वौयस रिकौर्ड करते समय उस का नाम लेंगे या उस को अपनेपन सेसंबोधित करेंगे तो पाने वाले को अलग लगेगा. इस से आप सीधे तौर पर जुडे़ भी होंगे और अच्छी तरह से आप की बात सामने वाले तक पहुंच भी जाएगी.

लाजवाब थे ग्रीटिंग कार्ड

बधाई संदेश की बात चलती है तो आज भी लोग सब से अधिक ग्रीटिंगकार्ड को पसंद करते हैं. आज समय पर डाक और कूरियर की व्यवस्था न होने के कारण इस का चलन कम हो गया है पर यह अपनेपन का अलग ही एहसास कराते हैं.

ग्रीटिंगकार्ड को भेजने से पहले खरीदने और फिर पोस्टऔफिस या कूरियर तक पहुंचाने के लिए की जाने वाली जद्दोजेहद से पता चलता था कि जिसे हम भेज रहे हैं वह कितना खास है. ग्रीटिंगकार्ड की खाली जगह में अपने हाथ से कुछ सुंदर पक्तियां लिखना सहज एहसास कराता है. कई टैलेंटेड लोग तो अपने हाथ से तैयार कर के ग्रीटिंगकार्ड भेजते थे. ऐसे बधाई संदेश रिश्तों को नई मजबूती देते थे.

ग्रीटिंगकार्ड की खरीदारी करते समय देने वाले की आयु, रिश्तों और अवसर का पूरा ध्यान रखा जाता था. खरीदने वाला हर संभव यह कोशिश करता था कि पाने वाले का दिल ग्रीटिंगकार्ड देख कर ही खुश हो जाए. इस के लिए कईकई दुकानों में कार्ड खेजे जाते थे.

फोन है बेहतर जरिया

ग्रीटिंगकार्ड को भेजना तो अब बहुत पुराना अंदाज हो गया है. व्हाट्सऐप के बधाई संदेश की जगह पर अगर आप अपनों को फोन से बधाई संदेश दें तो यह दिल को छूने वाला संदेश होगा. फोन से बात करने पर एकदूसरे के बारे में पता चल जाता है. कई बार हम कई दोस्तों, रिश्तेदारों से बात नहीं करते, क्योंकि

कोई काम नहीं होता है. दीवाली की शुभकामनाएं देते समय ऐसे लोगों से बात हो जाती है जिस से उन को भी रिश्तों के नएपन का एहसास होता है.

आज के दौर में जब सभी व्हाट्सऐप पर बधाई संदेश दे रहे हों और अचानक उसी समय किसी का फोन बधाई संदेश देने के लिए आ जाए तो दिल खुश हो जाता है.  फोन से ही लगता है कि उस के दिल में कितना सम्मान रहा होगा. फोन से बात करने पर एकदूसरे से अच्छी तरह से बात हो जाती है. बधाई के साथ भावनाओं का आदानप्रदान हो जाता है. फोन से बधाई संदेश देना अपनेपन का एहसास कराता है. ऐसे में व्हाट्सऐप के साथ फोन से भी बधाई संदेश दे सकते हैं.

जीवंत होते हैं फोेन से दिए संदेश

व्हाट्सऐप पर वौयस रिकौर्डिंग के साथ भी बधाई देने का सिलसिला चल रहा है. इस के बाद भी यह फोन का विकल्प नहीं हो सकता. वौयस रिकौर्डिंग एक तरफ से होती है. उस में नयापन होता है पर जीवंतता का एहसास नहीं रहता. दूसरे, सामने वालों के एहसास को समझ नहीं सकते. फोन से बधाई संदेश देने से एकदूसरे की भावनाओं को समझा जा सकता है. सब से बड़ी बात यह है कि फोन से दिया गया बधाई संदेश इस बात का एहसास कराता है कि आप का महत्त्व क्या है.

फेसबुक और व्हाट्सऐप में बहुत सारी कलात्मकता हो सकती है पर जीवंतता का अभाव होता है. व्हाट्सऐप और फेसबुक के बधाई संदेशों

से यह लगता है जैसे मशीनी अंदाज में दिया गया हो. यह सच है कि फेसबुक और व्हाट्सऐप के बधाई संदेश कम समय में अधिक लोगों तक पहुंच जाते हैं पर वहीं यह भी सच है कि ये अपनेपन के एहसास को मिटा देते हैं.

सोशल मीडिया के बढ़ते प्रभाव के बीच आप को अपने करीबी रिश्तों में नएपन के एहसास को बनाए रखना जरूरी होता जा रहा है. ऐसे में फोन से दिए गए संदेश बहुत उपयोगी हो सकते हैं. ये रिश्तों में नया एहसास जगा सकते हैं.