गहने चाहे जिस धातु के हों, जब उन्हें नियमित रूप से इस्तेमाल किया जाता हो तो उन में मैल व गंदगी बैठ ही जाती है और उन की चमक फीकी पड़ने लगती है. नए गहने भी पुराने नजर आने लगते हैं. ऐसे में गहनों का विशेष खयाल रखने की जरूरत होती है, ताकि उन की चमक बरकरार रहे. वैसे आप इन की चमक व खूबसूरती के लिए इन्हें ज्वैलर के यहां ले जा सकती हैं पर वह उन्हें कैमिकल से साफ करेगा. बारबार ऐसा करने से गहनों का वजन घट सकता है. अत: घर में ही कुछ बेहतर ढंग से इन की सफाई व रखरखाव किया जा सकता है.

सोने और प्लैटिनम के गहनों पर विशेष ध्यान देने की जरूरत नहीं पड़ती पर नियमित प्रयोग होने वाले गहनों की साफसफाई जरूरी है. रोज पहनने से ज्यादा असर चांदी के गहनों पर पड़ता है. चांदी के गहनों के काला पड़ने की आशंका रहती है.

सुभाषिनी और्नामैंट के ज्वैलरी डिजाइनर आकाश के. अग्रवाल बता रहे हैं गहनों की रौनक बरकरार रखने आसान तरीके:

गहनों की घर पर सफाई करें ऐसे

सोने के गहने: सोने के गहनों को साफ करने के लिए पहले उन्हें साफ कपड़े से पोंछ लें. फिर चुटकी भर हलदी लगा कर मलमल के कपड़े से हलका रगड़ें. गहने साफ हो जाएंगे.

डिश सोप से सफाई: एक कटोरी में गरम पानी ले कर उस में लिक्विड डिटर्जैंट की कुछ बूंदें डाल कर मिलाएं. बेहतर परिणाम के लिए सोडियम फ्री सैल्टजर या क्लब सोडे का इस्तेमाल कर सकती हैं. कभी भी बहुत ज्यादा उबलते पानी का उपयोग न करें. खासकर तब जब आप के गहने नाजुक और कीमती रत्नों से जड़े हों. सोने के गहनों को डिटर्जैंट के पानी में 15 मिनट तक भिगोए रखें ताकि गरम डिटर्जैंट का पानी गहनों की दरारों में घुस कर वहां जमी गंदगी को ढीला कर दे. फिर नर्म दांतों वाले टूथब्रश से साफ करें. वैसे गहनों की सफाई के लिए विशेष ब्रश मिलते हैं. उन का प्रयोग करें तो बेहतर होगा. गहनों को गोल्ड क्लीनिंग लिक्विड से भी साफ कर सकती हैं, जो बाजार में आसानी से उपलब्ध है.

चांदी के गहने: चांदी के गहनों को हमेशा डब्बे में बंद रखें. हवा व नमी से ये काले पड़ सकते हैं. नियमित प्रयोग होने वाले चांदी के गहनों पर थोड़ा सा टूथपेस्ट उंगलियों की मदद से रगड़ कर कुछ मिनट छोड़ दें. फिर टूथब्रश से धीरेधीरे रगड़ कर साफ मुलायम कपड़े से साफ कर लें या टिशू पेपर से धीरेधीरे सक्रब करें.

एक कटोरा गरम पानी में 1 चम्मच बेकिंग सोडा डाल कर 5 मिनट छोड़ दें. अब उस में चांदी की ज्वैलरी को कुछ देर डिप करें. फिर निकाल कर मलमल के कपड़े से पोंछ लें.

नौन ब्लीच डिटर्जैंट पाउडर से भी चांदी के गहने साफ कर सकती हैं. एक कटोरे में पानी भर कर डिटर्जैंट घोल लें. फिर चांदी के गहनों को 10 मिनट उस में डिप कर के छोड़ दें और कुछ देर बाद निकाल कर कपड़े से साफ कर लें.

उबलू आलुओं के पानी से चांदी के गहने साफ करने पर भी उन में चमक आ जाएगी.

मोती के गहने: सफेद चमकदार मोती हर किसी का मन मोह लेते हैं. मगर यदि इन की साफसफाई और रखरखाव ठीक से न किया जाए तो ये अपनी चमक खो देते हैं. मोती पर कोटिंग की जाती है, जिस का नमी के कारण निकलने का खतरा रहता है.

मोती के गहनों को खरीदते ही उन पर ट्रांस पैरेंट नेलपौलिश की परत चढ़ा दें तो वे जल्दी काले नहीं पड़ते.

मोतियों के गहनों को रुई में स्प्रिट लगा कर साफ करने से उन में चमक आ जाती है.

अगर मोती गंदे हो जाएं तो उन्हें मलमल के कपड़े को गीला कर के उस से साफ करें. उन्हें कभी मोटे कपड़े से साफ न करें. वरना उन में लगी कोटिंग छूट जाएगी.

मोतियों को कभी शार्प गहनों के साथ न रखें, वरना उन में जरा सी भी खरोंच लग गई तो बेकार हो जाएंगे.

मोतियों के नैकलैस को साल में एकबार जरूर ज्वैलर्स से बंधवा लें ताकि मजबूती बरकरार रहे.

प्लैटिनम के गहने: प्लैटिनम ‘सोना’ भी कहलाता है. इस तरह करें इन का रखरखाव:

प्लैटिनम के गहनों को अमोनिया से साफ न करें.

साबुन के पानी में ज्यादा देर तक न रखें.

प्लैटिनम के गहनों की सफाई के लिए हलके साबुन का झाग बना कर छोटे ब्रश से रगड़ें, फिर धो कर सुखा लें.